News Portal Website

प्रभास का जीवन परिचय व अनमोल वचन  

प्रभास का जन्म और शिक्षा

प्रभास का जन्म भारत के राज्य तमिलनाडु के चेन्नई में 23 अक्टूबर 1979 को हुआ था. प्रभास की स्कूली शिक्षा दीक्षा भीमावरम के डीएनआर स्कूल में हुई है. उन्होंने हैदराबाद के श्री चैतन्य कॉलेज से बी. टेक के साथ स्नातक की डिग्री प्राप्त की है.

प्रभास का शुरूआती जीवन

फ़िल्मी बैक ग्राउंड से होते हुए भी प्रभास कभी भी फिल्मों में नहीं आना चाहते थे. उन्होंने कभी भी अभिनय के बारे में विचार नहीं किया, वो एक व्यावसायिक बनना चाहते थे, लेकिन उनके चाचा उप्पलापति कृष्णन राजू जो की तेलगु फिल्म के मशहुर अभिनेता है, उन्होंने उन्हें फिल्मों में आने के लिए प्रोत्साहित किया

प्रभास की पारिवारिक जानकारी

प्रभास का परिवार आंध्रप्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के मोग्लतुरु गाँव से है. प्रभास के परिवार में उनके माता पिता और दो भाई बहन है. उनके पिता का नाम उप्पलापति सूर्य नारायणा राजू है, वो एक फिल्म निर्माता थे और उनकी माता जी का नाम शिवा कुमारी है, वो एक गृहणी है. प्रभास के एक बड़े भैया भी है, जिनका नाम प्रमोद उप्पलापति है 

प्रभास का करियर (Prabhas career graph)

प्रभास ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत 2002 में आई तेलगु फिल्म ‘ईश्वर’ से की, जिसमे उनके पात्र का नाम भी ईश्वर ही था. फिर 2003 में उनकी फिल्म आई राघवेन्द्र. फिर 2004 में उनकी दो फ़िल्में आई वर्षम जिसमे उनके किरदार का नाम वेंकट था और दूसरी फ़िल्म थी अडवाणी जिसमे प्रभास के पात्र का नाम रामुडु था. इस तरह से उनके फ़िल्मों में अभिनय का कारवां चलता रहा.

2005 में उनकी फिल्म चक्रम और छत्रपति आई. छत्रपति फ़िल्म को एस एस राजामौली के द्वारा निर्देशित किया गया था, जिसमे उन्होंने गुंडों के द्वारा शोषित किये हुए एक शरणार्थी की भूमिका निभाई 

2006 में फिल्म पौर्नामी आयी, जिसमे उन्होंने शिवा केशव के किरदार को निभाया. 2007 में योगी फिल्म में उनके पात्र का नाम ईश्वर प्रसाद था. यह फ़िल्म एक्शन और ड्रामा का मिलाजुला रूप था. फिर 2008 में एक्शन और कॉमेडी से भरपूर उनकी फ़िल्म आई बुज्जिगादु, जिसमे उनके पात्र का नाम लिंगा राजू, बुज्जी और रजनीकांत था.

2009 में आई उनकी फ़िल्म का नाम बिल्ला था, जिसके बारे में इण्डियाग्लित्ज़ ने कहा कि बिल्ला का किरदार स्टाइलिश और देखने में अमीर जैसा था. फिर इसी वर्ष उनकी एक और फ़िल्म आई जिसका नाम एक निरंजन था, जिसमे उनके पात्र का नाम छोटू था.

2010 में आई उनकी फिल्म का नाम डार्लिंग था जो कि एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म थी. इस फिल्म में उनके किरदार का नाम प्रभास था. फिर

2011 में एक उनकी रोमांटिक कॉमेडी फिल्म मिस्टर परफेक्ट आई, इस फ़िल्म मे उन्होंने विक्की नाम के पात्र के किरदार को जीवंत किया.

इसके बाद 2012 में उनकी दो फिल्मे आई रिबेल, जो कि राघव लोरेंस द्वारा निर्देशित एक एक्शन फ़िल्म थी, जिसमे उन्होंने ऋषि नाम के किरदार को निभाया था, और इसमें देनिकैना रेडी ने एक छोटे से कैमियों के लिए अपनी आवाज दी थी.

फिर उनकी 2014 में फ़िल्म आई मिर्ची, जिसमे उनकी हिरोइन अनुष्का शेट्टी थी. यह फ़िल्म सुपरहिट रही इस फ़िल्म की दर्शकों ने बहुत प्रशंसा की. इस फ़िल्म के लिए उन्हें अवार्ड भी प्राप्त हुए. उसके बाद 2014 में प्रभु देवा की हिंदी फ़िल्म एक्शन जैक्सन में वो पहली बार सिर्फ़ एक आइटम गाने में दिखे थे.

2015 में बाहुबली आई है, जिसमे उन्होंने महेंद्र बाहुबली के किरदार को निभाया है तब से हर तरफ उनके दमदार अभिनय और फ़िल्म की चर्चा हर तरफ हो रही है. इस फ़िल्म की दुनिया भर में आलोचकों ने भी प्रशंसा की है, ये फ़िल्म अपने व्यावसायिक कमाई से भी चर्चित है. बाहुबली फ़िल्म की अगली कड़ी को हाल ही

28 अप्रैल 2017 को दुनिया भर में चालू किया गया है, यह फ़िल्म 3 भाषाओँ में तेलगु, तमिल और हिंदी में जारी हुई है. इस फ़िल्म ने भी बॉक्स ऑफिस पर सफलता के नए कृतिमान को गढ़ने के कगार पर अपनी पहुँच बना ली है.  

प्रभास की कुल संपत्ति

साल 2021 में अभिनेता Prabhas की कुल संपत्ति 27 मिलियन डॉलर थी, और ये भारतीय रुपयों के हिसाब से 200 करोड रुपये है। आपको बता दे की प्रभास की साल 2021 में सालाना इनकम 50 करोड़ रुपये से अधिक है

प्रभास को मिले अवार्ड और उपलब्धियां

प्रभास ने अपनी अभिनय क्षमता का प्रदर्शन करते हुए कई अवार्ड जीते है, जिनमें उन्होंने 2004 में संतोषम फ़िल्म अवार्ड को जीता है, दक्षिण की फ़िल्मों के लिए इसी वर्ष उन्होंने फ़िल्म फ़ेयर अवार्ड भी प्राप्त किया. इसके अलावा उन्होंने 2012 में दक्षिण भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय फ़िल्म अवार्ड भी जीते है. भारत में नेशनल फिल्म अवार्ड 2017 यहाँ पढ़ें. कुछ और भी चर्चित अवार्ड उन्होंने जीते है जो नीचे टेबल में दर्शित है –    

वर्ष फ़िल्म अवार्ड 
2010तेलगु फ़िल्म डार्लिंगजूरी के द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए सिनेमा अवार्ड
2013तेलगु फिल्म मिर्चीनंदी अवार्ड सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए

प्रभास का व्यक्तिगत जानकारी

प्रभास के व्यक्तिगत जानकारी के बारे में निम्न सूची के आधार पर दर्शाया गया है-

नामवेंकट सत्यनारायण प्रभास राजू उप्पलापति
उपनामडार्लिंग, यंग रिबेल स्टार 
व्यवसायअभिनेता
ऊचाई6 फीट 1 इंच
वजन95 किलो ग्राम
शारीरिक बनावटसीना- 45 इंच, कमर 35 इंच, बाइसेप्स 18 इंच    
बालों का रंगकाला
आँखों का रंगभूरा
नागरिकताभारतीय
राशितुला
गृह नगरहैदराबाद
धर्महिन्दू
पसंदपढ़ना और वॉलीबॉल खेलना 
पसंदीदा खानाबिरयानी
पसंदीदा अभिनेताशाहरुख़ खान, सलमान खान और रोबर्ट डे नीरो  
पसंदीदा अभिनेत्रीजयसुधा, तृषा कृष्णन, दीपिका पादुकोण और श्रिया सरन   
पसंदीदा फ़िल्म बॉलीवुडमुन्ना भाई एमबीबीएस, 3 इडियट्स और पीके 
पसंदीदा फ़िल्म टोल्लीवुडभक्त कन्नाप्पा और गीतांजलि
पसंदीदा निर्देशकराजकुमार हिरानी
पसंदीदा किताबअयन रैंड द्वारा लिखित द फाउंटेनहेड
पसंदीदा गानाफ़िल्म वर्षम का गीत, मेल्लागा करागनी 
पसंदीदा स्थानलन्दन
पसंदीदा रंगकाला
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
घर का पताजुबली हिल्स, हैदराबाद 
कार संग्रहरोल्स रोयस फैंटम, जैगुआर एक्स जे  
सैलरी24 करोड़
कुल कमाई12 मिलियन डॉलर

प्रभास विवादों में

प्रभास उस समय विवादों में आये जब किसी व्यक्ति ने उनकी और वाईएसआरसीपी नेता की तस्वीर और अपमानजनक फोटों और तस्वीरों को इंटरनेट पर पोस्ट कर दिया था. उनके और वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख नेता जगन मोहन रेड्डी की बहन वाई. एस. शर्मीला के साथ उनके रिश्ते की अफवाह उड़ी थी, तब उन्होंने इस रिश्ते को लेकर दृढ़ता पूर्वक इंकार कर दिया था.

अभिनेता प्रभास अपनी फ़िल्म बाहुबली की शूटिंग के दौरान भी विवादों में आये थे, जिसमे यह अफ़वाह फ़ैली थी कि एक एक्शन करते हुए वो घोड़े से गिर कर घायल हो गए है और उन्हें इतनी चोट लगी है कि वो कोमा में चले गए है, लेकिन फ़िल्म बाहुबली की टीम ने इस बात से साफ़ इनकार कर दिया था.       

प्रभास के चर्चित बोल

  1. सामान्यतः मै अपनी कामयाबी या किसी भी तरह की बातों को अपने भाई बहन या जो मेरे सबसे नजदीकी मित्र है उनसे करता हूँ, लेकिन मै इस फ़िल्म को अपने भाई बहनों और मित्रों के साथ ही बना रहा हूँ तो यहाँ मुझे दुगुनी ख़ुशी और कामयाबी मिल रही है.
  2. फ़िल्म बाहुबली के लिए मै अपने शारीरिक बनावट को बदलने के लिए काफ़ी मेहनत और कसरत कर रहा हूँ जिसमे मेरे शरीर को मजबूत और बलवान दिखाया जाना है.
  3. राजामौली और मैंने 4 साल तक फ़िल्म बाहुबली के लिए समर्पित किये. इस तरह की अगर परियोजना हो तो मै सात साल भी अपने आप को समर्पित करने के लिए तैयार हूँ.
  4. मेरा सपना एक पौराणिक युद्ध पर आधारित फिल्म में अभिनय करने का था, जोकि बाहुबली फिल्म की तुलना में बहुत छोटा सपना था. भारतीय फ़िल्म की स्क्रीन पर बाहुबली सबसे बड़ी फ़िल्म है और इस तरह की फ़िल्म में काम करने का अवसर जीवनकाल में एक ही बार मिलता है और मै भाग्यशाली हूँ कि मुझे इस तरह का अवसर प्राप्त हुआ.
  5. भारत की सबसे बड़ी मोशन फ़िल्म में हीरो होने की वजह से कोइ भी ऐसा सोचने लगता है कि अभिनेता में बहुत एटीत्युड होगा या उनका रवैया सही नहीं होगा, लेकिन ऐसा नहीं है, मैंने और राजामौली ने बड़ी ही विन्रमता से अपने 300 दिनों की शूटिंग फ़िल्म बाहुबली के लिए की.



Exit mobile version