आयशा टाकिया का जीवन परिचय

आयशा टाकिया भारत की एक मशहूर अभिनेत्री व मॉडल है, इन्होने अपने कैरियर की शुरुआत हिंदी फिल्म टार्ज़न द वंडर कार (2004) से की थी। तो आइए जानते हैं आयशा टाकिया का जीवन परिचय Ayesha Takia Biography in Hindi

आयशा टाकिया का जन्म और प्रारंभिक जीवन

आयशा टाकिया Ayesha Takia Biography in Hindi का जन्म 10 अप्रैल 1986 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। आयशा के पापा का नाम निशित टाकिया है और उनकी माँ का नाम फ़रीदाह टाकिया है। आयशा की एक बहन हैं जिनका नाम नताशा टाकिया है। आयशा के पिता हिन्दू परिवार से हैं लेकिन उनकी माँ मुस्लिम परिवार से हैं।

नाम आयशा टाकिया
जन्म10 अप्रैल 1986
जन्म स्थानमुंबई, भारत
गृहनगरचेंबूर, मुंबई
पहली बॉलीवुड फिल्मटार्ज़न द वंडर कार 2004
पतिफरहान आजमी
पितानिशित टाकिया
मांफ़रीदाह टाकिया

आयशा टाकिया की शिक्षा

आयशा टाकिया ने अपनी शिक्षा सेंट एंथनी स्कूल, मुंबई से की।इन्होंने बस माध्यामिक शिक्षा तक ही पढ़ाई की थीं।आयशा को बचपन से ही अभिनेत्री बनना था और इसलिए उन्होंने सबसे पहले अपने व्यवसाय जीवन की शुरुआत एक मॉडल के रूप में की थी।

आयशा टाकिया की शादी

1 मार्च 2009 को आयशा ने अपने बॉयफ्रेंड ‘फरहान आज़मी’ के साथ शादी कर ली थी। साल 2014 में आयशा ने अपने बेटा ‘हैअप्रैल’ को जन्म दिया था।

आयशा टाकिया का कैरियर

वैसे तो आयशा टाकिया का फिल्मो का शुरुआती दौरआयशा टाकिया ने अपने अभिनय की शुरुआत अपनी 15 साल की उम्र से ही कर दी थी। उन्होंने अभिनेता शाहिद कपूर के साथ एक टीवी विज्ञापन में अभिनय किया था। आयशा ने ‘कॉम्प्लान’ ब्रांड के लिए अभिनय किया था जिसमे उन्होंने और शाहिद ने “आई एम ए कॉम्प्लान बॉय! आई एम ए कॉम्प्लान गर्ल!” का टैगलाइन भी कहा था।

और इसके बाद फिर उनने वर्ष 2000 में, आयशा ने फाल्गुनी पाठक द्वारा रचित वीडियो गीत “मेरी चुनर उड़-उड़ जाए” में अभिनय किया था, जो काफी लोकप्रिय रहा था, जिसके चलते इनको फिल्मजगत में काफी प्रसिद्ध मिली थी। लेकिन फिल्म जगत में उनका पहला कदम सन 2004 में आई फिल्म टार्जन द वंडर कार से की थी, इस फ़िल्म में आयशा टाकिया के साथ अजय देवगन नज़र आए ।

साल 2004 में ही आयशा को निर्देशक अनंत महादेवन द्वारा निर्देश की गई फिल्म ‘दिल मांगे मोर’ में देखा गया था। इस फिल्म में आयशा के किरदार का नाम ‘शगुन’ था। फिल्म में आयशा के साथ अभिनेता शाहीद कपूर, तुलिप जोशी और सोहा अली खान को मुख्य किरदार को दर्शाते हुए देखा गया था। इस फिल्म को क्रिटिक्स ने ठीक ठाक टिप्पड़िया दी थी और दर्शको ने भी फिल्म को पसंद किया था।

इसके बाद आयशा को साल 2005 में फिल्म ‘सोचा ना था’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘इम्तिआज़ अली’ थे और फिल्म में आयशा के किरदार का नाम ‘अदिति साहनी’ था। फिल्म में मुख्य किरदारों को अभय देओल, अप्रूवा और आयशा ने निभाया था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में ठीक ठाक कमाई की थी। इसी साल आयशा को तीन और फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था जिनका नाम ‘शादी नंबर 1’, ‘सुपर’ और ‘होम डिलीवरी’ था। फिल्म शादी नंबर 1 में आयशा ने ‘भावना’ का किरदार अभिनय किया था।

इस फिल्म के निर्देशक ‘डेविड धवन’ थे और फिल्म में आयशा के अलावा संजय दत्त, फरदीन खान, ज़ायेद खान, शरमन जोशी, ईशा देओल और सोहा अली खान ने अभिनय किया था। फिल्म ने कुल 30 करोड़ की कमाई के साथ अपना नाम उस समय की सफल फिल्मो की लिस्ट में शामिल किया था। साल 2005 में ही आयशा ने एक तेलुगु फिल्म में अभिनय किया था जिसका नाम ‘सुपर’ था। इस फिल्म में इन्होने अभिनेता ‘नागार्जुन अक्किनेनी’ के साथ अभिनय किया था। इसके बाद उस साल की आयशा की आखरी फिल्म ‘होम डिलीवरी’ थी। इस फिल्म में उन्होंने ‘जेनी’ का किरदार अभिनय किया था।

साल 2006 में आयशा टाकिया को फिल्म ‘शादी से पहले’ में देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘रानी भल्ला’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में आयशा के अलावा अभिनेता अक्षय खन्ना, सुनील शेट्टी, मलाइका शेरावत ने अभिनय किया था। फिल्म के निर्माता ‘सतीश कौशिक’ थे। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप रही थी और क्रिटिक्स द्वारा भी फिल्मो को कुछ खास टिप्पड़िया नहीं मिली थी। इसी साल की आयशा की दूसरी फिल्म का नाम ‘यूँ होता तोह क्या होता’ थी। फिल्म के निर्माता ‘नसीरुद्दीन शाह’ थे।

फिल्म में मुख्य किरदारों को कोंकणा सेन शर्मा, इर्र्फान खान, परेश रावल, जिमी, सरोज खान और आयशा टाकिया ने निभाया था। फिल्म में आयशा के किरदार का नाम ‘खुशबू’ था। इसी साल आयशा को फिल्म ‘डोर’ में भी देखा गया था। इस फिल्म में आयशा के किरदार का नाम ‘मीरा’ था। आयशा की एक के बाद एक फ्लॉप फिल्मो के बाद, यह फिल्म सिनेमाघरों में दर्शको को बहुत पसंद आई थी। फिल्म ने अच्छी कमाई की थी और इसी के साथ अपना नाम हिट फिल्मो की लिस्ट में दर्ज भी किया था।

साल 2007 में आयशा को कुल 7 फिल्मो में अभिनय करते हुए देखा गया था। सबसे पहले उन्होंने सल्लम-ए-इश्क़ में ‘गिआ बक्शी’ का किरदार अभिनय किया था। इसके बाद उन्हें ‘क्या लव स्टोरी है’ में देखा गया था। इस फिल्म में आयशा ने ‘काजल महरा’ का मुख्य किरदार निभाया था। फिल्म के निर्देशक ‘लवली सिंह’ थे। फिल्म में आयशा के साथ अभिनेता ‘तुषार कपूर’ ने अभिनय किया था। यह फिल्म तुषार की डेब्यू फिल्म थी।

इसके बाद साल 2007 की आयशा की तीसरी फिल्म का नाम ‘फूल एंड फाइनल’ था। इस फिल्म में आयशा ने ‘टीना’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में मुख्य किरदारों को शाहिद कपूर, सनी देओल, विवेक ओबेरॉय, समीरा रेड्डी और परेश रावल ने अभिनय किया था।

2007 की आयशा की चौथी फिल्म का नाम ‘कैश’ था, जिसके निर्माता ‘अनुभव सिन्हा’ थे। फिल्म को दर्शको ने बिलकुल पसंद नहीं किया था। इसके बाद उन्हें ‘ब्लड ब्रदर’ में देखा गया था, जिसके निर्देशक ‘विशाल भरद्वाज’ थे। इस फिल्म में आयशा के किरदार का नाम ‘किया’ था। इस साल की आखरी फिल्म आयशा की ‘नो स्मोक’ थी। फिल्म में आयशा ने ‘अंजलि’ और ‘अन्नी’ का किरदार अभिनय किया था।

साल 2008 में आयशा ने रोहित शेट्टी की फिल्म ‘संडे’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में उन्होंने ‘सहर थापर’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में आयशा के साथ अभिनेता अजय देवोल और अरशद वारसी को भी देखा गया था। इसके बाद उनकी अगली फिल्म ‘दे ताली’ थी, जिसमे उन्होंने ‘अमृता’ और ‘अमु’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म के बाद उन्होंने साल 2009 में फिल्म ‘8 X 10 तस्वीर’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में आयशा ने ‘शीला पटेल’ का किरदार अभिनय किया था। इस फिल्म में आयशा को अभिनेता अक्षय कुमार के साथ देखा गया था। इस फिल्म के बाद आयशा ने प्रभु देवा द्वारा निर्देशित फिल्म ‘वांटेड’ में अभिनय किया था। इस फिल्म में आयशा ने ‘जानवी’ का किरदार अभिनय किया था। फिल्म में इन्होने अभिनेता सलमान खान के साथ उनकी प्रेमिका की भूमिका निभाई थी। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में बेहतरीन कमाई की थी। इस फिल्म को दर्शको ने बहुत पसंद किया था जबकि क्रिटिक्स द्वारा इसे कुछ खास टिप्पड़ियां नहीं मिली थी।साल 2010 में एक बार फिर आयशा को अभिनेता शाहिद कपूर के साथ फिल्म ‘पाठशाला’ में देखा गया था। फिल्म में उन्होंने शाहिद की प्रेमिका का किरदार अभिनय किया था। साल 2011 में उन्हें आखरी बार फिल्म ‘मोड़’ में देखा गया था। फिल्म में उनके किरदार का नाम ‘अरान्या’ था। फिल्म को दर्शको ने कुछ ज़्यादा पसंद नहीं किया था। साल 2011 के बाद अभी तक आयशा टाकिया को किसी फिल्म में अभिनय करते हुए नहीं देखा गया है।

आयशा टाकिया की फ़िल्में (Ayesha Takia Movies)

  • टार्जन: द वंडर कार 2004
  • शादी नं 1 2005
  • होम डिलिवरी 2005
  • सोचा ना था 2005.
  • यूं होता तो क्या होता 2006
  • शादी से पहले 2006
  • डोर 2006
  • कैश 2006
  • सलाम ए इश्क: ए ट्रिब्यूट टू लव 2007
  • नो स्मोकिंग 2007
  • फूल एन फाइनल 2007
  • संडे 2008

  • दे ताली 2008
  • वॉन्टेड 2009
  • सुपर
  • दिल मांगे मोर
  • क्या लव स्टोरी हैं
  • आप के लिए

आयशा टाकिया की पुरस्कार और उपलब्धियां

  • 2004, फिल्म ‘टार्ज़न: ए वंडर कार’ के लिए ‘बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस’, ‘स्टार डेब्यू ऑफ़ द ईयर’, ‘सबसे फेवरेट नई हेरोइन’ के अवार्ड्स मिले ।
  • 2006, फिल्म ‘डोर’ के लिए 2 बार ‘बेस्ट एक्ट्रेस (क्रिटिक्स)’, 1 बार ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ और 1 बार ‘बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस’ का अवार्ड मिला।
  • वर्ष2007 में – डोर फिल्म के लिए स्टारडस्ट बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस पुरुस्कार से सम्मानित किया गया।
  • वर्ष 2007 में – डोर फिल्म के लिए बीएफजेए बेस्ट एक्ट्रेस पुरुस्कार से सम्मानित हुई
  • वर्ष 2007 में – फिल्म डोर के लिए गुल पनाग के साथ जी सिनेबेस्ट एक्ट्रेस पुरुस्कार से सम्मानित हुई ।

Leave a Reply