मशहूर बॉलीवुड के बादशाह ‘शाहरुख खान’ का जीवन परिचय

Sharukh khan

शाहरुख खान को कौन नहीं जानता, वे फिल्मी दुनिया के सबसे चमकते सितारों में से एक है। शाहरुख खान बॉलीवुड के सर्वश्रेष्ठ एवं सफल अभिनेता हैं जिन्होंने अपने शानदार अभिनय के अंदाज से करोड़ों लोगों के दिलों में अपनी एक अलग जगह बनाई है।

शाहरुख खान को लोग प्‍यार से ‘बॉलीवुड का बादशाह’, ‘किंग ऑफ बॉलीवुड’, ‘किंग खान’ और किंग ऑफ़ रोमांस’ भी कहते हैं। वे लगभग सभी शैलियों की फिल्‍मों (रोमांस, ड्रामा, कॉमेडी, एक्‍शन) में काम कर चुके हैं। लॉस एंजिलेस टाइम्‍स ने उन्‍हें दुनिया का सबसे बड़ा मूवी स्‍टार बताया है।

जीवन से जुड़ी विशेष जानकारी, समर्पण सहित आगामी विचार व्यवस्था –

पूरा नाम शाहरुख़ खान
जन्मतिथि 02 नवंबर 1965
जन्मस्थान नई दिल्ली
उम्र 56
पिता का नाम ताज मोहम्मद ख़ान
माता का नाम लतीफ़ा फ़ातिमा
पत्नी का नाम गौरी ख़ान
संताने आर्यन (1997), सुहाना(2000)

शाहरुख खान का प्रारंभिक जीवन

बॉलीवुड के बादशाह किंग खान 2 नवंबर, 1965 को दिल्ली में एक साधारण परिवार में जन्में थे। उन्होंने अपने जीवन के पहले पाच साल मँगलोर में बिताये। जहा 1960 में उनके नाना इफ्तियार अहमद एक इंजिनियर थे। उनके पिता मीर ताज मोहम्मद खान पाकिस्तान के पेशावर से थे, जो कि एक प्रसिद्ध वकील और स्वतंत्रता सेनानी थे। 1947 में भारत विभाजन से पूर्व ही वे नयी दिल्ली आ गये थे।

उनकी मां का नाम लतीफ फातिमा था, जो कि हैदराबाद से थी। शाहरुख जब 15-16 साल के थे, तब उनके पिता का कैंसर की वजह से निधन हो गया था। वहीं इसके करीब 10 सालों बाद उनकी मां की भी डायबटीज की वजह से मौत हो गई थी। जिसके चलते उन पर एवं उनकी बड़ी बहन शहनाज लालारुख दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, लेकिन इस हालत में न सिर्फ शाहरुख ने खुद को संभाल कर रखा, बल्कि अपनी बड़ी बहन की जिम्मेदारी को भी अच्छे से निभाया।

वहीं वर्तमान में उनकी बहन मुंबई में शाहरुख खान के घर ”मन्नत” में उनके साथ रहती हैं।

शाहरुख खान का पारिवारिक जीवन

शाहरूख एक ऐसे अभिनेता रहें हैं जिनके प्रशंसक हर उम्र और हर वर्ग के लोग हैं। खासकर, लड़कियां उनकी काफी दीवानी हैं लेकिन बावजूद इसके शाहरूख का किसी के साथ अफेयर या प्रेम संबंध नहीं रहा है। वे अपनी पत्नी के लिए हमेशा से वफादार रहे हैं। और अपने परिवार से बेहद प्यार करते हैं। शाहरूख ने गौरी से शादी की है जो हिन्दू-पंजाबी परिवार से आती हैं। उनके 3 बच्चे हैं-आर्यन, सुहाना और अबराम। फिल्म इंडस्ट्री में उन्हें सबसे अच्छा पिता भी माना जाता है क्योंकि वे अपने बच्चों से बेहद प्यार करते हैं और उनके साथ अच्छा समय भी व्यतीत करते हैं।

शाहरुख खान का करियर

शाहरुख़ खान ने अपना करियर 1988 में ‘फ़ौजी’ नामक धारावाहिक से प्रारम्भ किया। उसके बाद उन्होंने कई धारावाहिकों में कार्य किया, जिनमें ‘सर्कस’ काफी लोकप्रिय साबित हुआ। इन सेरिअल्स के जरिये उनकी पहचान बन चुकी थी। उस ही वर्ष उन्होंने अरुंधति राय द्वारा लिखित अंग्रेज़ी फ़िल्म “इन विच एनी गिव्स इट दोज़ वंस” में एक छोटा किरदार निभाया था।

इस समय उनके पास खुदका घर तक नहीं था। और इस ही समय उनका गौरी के साथ अफेयर चल रहा था। बॉलीवुड में उनकी पहली फिल्म ‘दीवाना’ ने लोगों को अपना दीवाना बना डाला था। इस फ़िल्म के लिए उन्हें फ़िल्मफ़ेयर की तरफ़ से सर्वश्रेष्ठ प्रथम अभिनय का अवार्ड मिला था। 1993 में रिलीज़ हुई ‘बाजीगर’ फिल्म सुपरहिट हुई। इस फिल्म में एक हत्यारे का किरदार निभाने के लिए उन्हें अपना पहला फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार मिला था। इसके बाद शाहरुख़ खान ने एक के बाद एक हिट फिल्में बॉलीवुड को दी। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज तक उनकी कई फिल्में असफल रही। लेकिन, उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और हमेशा अपना बेस्ट शॉट देते रहे।

शाहरुख खान के सम्मान एवं पुरस्कार

  • 2005 में ‘पद्मा श्री’ अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • 2012 में ‘असिअनेट फिल्म अवार्ड्स’ द्वारा ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड्स’ से सम्मानित किया गया था।
  • 2014 में ‘असिअनेट फिल्म अवार्ड्स’ द्वारा ‘इंटरनेशनल आइकॉन ऑफ़ इंडियन सिनेमा’ के अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • 2015 में ‘द एशियाई अवार्ड्स’ द्वारा ‘ऑउटस्टैंडिंग कंट्रीब्यूशन सिनेमा’ के अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • 2011 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (माई नेम इज़ ख़ान)
  • 2007 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (चक दे! इंडिया)
  • 2005 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (स्वदेश)
  • 2003 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (देवदास)
  • 1999 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (कुछ कुछ होता है)
  • 1998 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (दिल तो पागल है)
  • 1996 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे)
  • 1994 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार (बाज़ीगर)

शाहरुख खान का नेट वर्थ

  • नेट वर्थ :- $750 मिलियन
  • कुल फिल्में :- 80
  • डेब्यू मूवी :- दीवाना

India.com की रिपोर्ट के अनुसार, शाहरुख खान यशराज फिल्म्स द्वारा निर्मित अपनी आगामी फिल्म पठान के लिए लगभग 13 मिलियन अमेरिकी डॉलर चार्ज कर रहे हैं। अपने बेल्ट के तहत 108 से अधिक फिल्म खिताब के साथ, 55 वर्षीय अभिनेता ने अनुमानित कुल संपत्ति US$750 मिलियन अर्जित की है। लेकिन, निश्चित रूप से, उन्होंने अकेले अभिनय के माध्यम से अपनी जबरदस्त संपत्ति जमा नहीं की। वह साथी अभिनेता जूही चावला के साथ इंडियन प्रीमियर लीग क्रिकेट टीम, कोलकाता नाइट राइडर्स के सह-मालिक भी हैं।

बॉलीवुड सफ़र की शुरुवात

पहली फिल्म :- शाहरुख को पहला प्रस्ताव हेमा मालिनी की “दिल आशा है” का मिला पर इनकी पहली फिल्म “दीवाना” जो1992 में आई थी।

शाहरुख़ ने ऐसे तो सैकड़ो फिल्में की है, परंतु इन्हें पहला ब्रेक फिल्म दिल है आशा के जरिये मिला था। यह फिल्म 26 जून 1992 को रिलीस हुई थी। इस फिल्म के निर्देशक राज कवर साहब थे, तो वही इस फिल्म के निर्माता गुड्डू धनोआ, ललित कपूर, राजू कोठारी और के के नायर थे।इसके बाद एक के बाद एक इनकी कई फिल्मे आई जैसे चमत्कार,राजू बन गया जेन्टल मेन ,माया मेमसाब,किंग अंकल ,बाजीगर ,डर और पहला नशा। वास्तविकजीवन में वे हकलाते नही थे, पर उनका डायलॉग ककक किरण बेहद लोकप्रिय हुआ।

1994 में शाहरुख को फिल्म कभी हा कभी ना का प्रस्ताव मिला जिसमें उन्हें पुरी फिल्म के केवल25000 रूपये मिले। उन्होंने इस फिल्म के पहले दिन मुंबई में टिकिट खिड़की से टिकट भी बेचीं। शाहरुख की फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे बेहद लोकप्रिय हुई। शाहरुख जब छैया’छैया गाने की चलती ट्रेन पर शूटिंग कर रहे थे ,तब केवल शाहरुख ने ही अपने आप कों बाँधा नही था जबकि सारे कलाकारों ने अपने आप कोसुरक्षा के लिएबेल्ट से बांध के शूटिंग की थी।

केवल एक्टिंग के लिए ही नहीं एक्शन और डायरेक्शन’ में भी इन्होने बहुत ख्याति प्राप्त की। फिल्म कुछ कुछ होता है में शाहरुख’ ने ही करण जोहर कों रानी मुखर्जी को फिल्म में लेने के किए प्रेरित किया। 90 में शाहरुख सबके चहिते बन गए। मुख्यरूप से किशोर वर्ग ने उन्हें बेहद पसंद किया। उन्हें उस दौर में रोमांसका आइकॉन जाना जाने लगा।

शाहरुख खान की सुपरहिट फिल्में –

  • दीवाना (1992)
  • बाजीगर (1993)
  • डर (1993) (सह कलाकार सनी देओल और जूही चावला)
  • कभी हां कभी ना (1994)
  • दिलवाले दुल्‍हनियां ले जाएंगे (1995)
  • करन अर्जुन (1995)
  • चाहत (1996)
  • कोयला (1997) (अमरीश पूरी के साथ)
  • यस बॉस (1997)
  • परदेस (1997)
  • दिल तो पागल है (1997)
  • दिल से (1998)
  • कुछ कुछ होता है (1998)
  • जोश (2000)
  • मोहब्‍बतें (2000)
  • कभी खुशी कभी गम (2001) (सह कलाकार ऋतिक रोशन)
  • देवदास (2002)
  • कल हो न हो (2003)
  • मैं हूं ना (2004)
  • वीर जारा (2004) (सह कलाकार प्रीति जिंटा)
  • डॉन (2006)
  • चक दे इंडिया (2007)
  • ओम शांति ओम (2007)
  • रब ने बना दी जोड़ी( 2008)
  • माय नेम इज खान (2010),
  • रा.वन(2011)
  • डॉन 2 (2011),
  • जब तक है जान (2012)
  • चेन्‍नई एक्‍सप्रेस (2013) (सह कलाकार दीपिका पादुकोण)
  • हैप्‍पी न्‍यू ईयर (2013)
  • दिलवाले (2015)
  • फैन (2016)
  • रईस (2017)
  • जब हैरी मेट सेजल (2017)
  • जीरो (2018)

लव लाइफ और मैरिज लाइफ

गौरी और शाहरुख की प्रेम कहानी न भी किसी फिल्म की कहानी से कम नही है। 1984 में पहली बार एक पार्टी में इन दोनो का आमना सामना हुआ , तब गौरी अपने एक मित्र के साथ डांस कर रही थी , और शाहरुख गौरी से बात करना चाहते थे, पर अपने शर्मीले व्यक्तित्व के कारण बात करने में असफल रहे , बहुत हिम्मत जुटाने के बाद जब कहा, तो गौरी उनके साथ डांस करने के मना कर दिया। तब गौरी अपने भाई के साथ में थी। फिर गौरी को शाहरुख के अंदाज पसंद आने लगा और दोनो में बार बार मिलने लगे .जब शाहरुख ने गौरी को पहली बार देखा तब गौरी 14 साल की थी , पर इनकी लव लाइफ इतनी आसान नही थी। शाहरुख गौरी को बहुत सी बात के लिए रोकने लगे, उन्हें गौरी का अपने बालो को खुले रखना अच्छा नही लगता था। जब भी गौरी किसी लड़के से बात करती थी, तो शाहरुख कों पसंद नही आता था। जब गौरी ने फैसला लिया कि वे अब शाहरुख से रिश्ता नही रखना चाहती। गौरी ने शाहरुख के साथ अपना जन्म दिन मनाया और फिर अपने एक मित्र के साथ मुंबई छोड़ कर चली गई। और इस बात के बारे में शाहरुख को भी नहीं बताया। तब शाहरुख को पता चला कि वे गौरी को प्रेम करने लगे है। शाहरुख ने अपनी माँ से सारी बातें कही। तब उनकी माँ ने उन्हें 10000 रूपये दिये और गौरी को फिर से मिलने को कहा। शाहरुख ने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर सारा शहर खोजा पर गौरी कही नही मिली।

फिर एक दिन किस्मत से एक बीच पर गौरी और शाहरुख एक दुसरे के सामने आ गए, एक दुसरे को देख कर गले लग के रोने लगे। तब उन्हें पता चला के दोनों एक दुसरे के बिना नही रह सकते, और दोनों ने शादी करने का फैसला लिया, परंतु यह बहुत ही कठिन फैसला था। गौरी एक हिन्दू परिवार से थी और उनके पिताजी शुद्ध शाकाहारी थे। उनके घर में मंदिर भी था ,गौरी के माता पिता इस शादी के खिलाफ थे। गौरी की माँ ने यह तक कह दिया कि ये शादी हुई तो वो आत्महत्या कर लेंगी।

शाहरुख मुस्लिम धर्म से थे, और हमारे देश में शादी करने के लिए धर्म बहुत मायने रखता है। इसके साथ साथ उस समय शाहरुख का फिल्मी करियर की शुरुआत हुई थी, और उन्हें लगा कि गौरी की अभी शादी का फैसले लेने के लिए उम्र कम है। फिर शाहरुख और गौरी को बहुत कठिनाईयों का सामना करना पड़ा‌। 5 साल तक दोनों ने अपने रिश्ते को छुपा के रखा और गौरी के माता पिता को मनाने के लिए कई प्रयत्न किए, फिर एक दिन गौरी के माता पिता को शाहरुख के गौरी के प्रति प्रेम का एहसास हुआ और दोनों शादी के लिए तैयार हो गए। 25 अक्टूबर 1991 को हिन्दू विधि विधान के साथ दोनो की शादी हुई।

शाहरुख खान से जुड़े चर्चित विवाद –

  • शाहरुख खान पर साल 2013 में अपने तीसरे बेटे अब्राम के जन्म के दौरान लिंग जांच परीक्षण करने का आरोप लगा था।
  • साल 2012 में IPL मैच के दौरान वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश से रोक लगाने को लेकर शाहरूख खान और एक गार्ड के बीच बहस हो गई थी, जिसके बाद शाहरुख पर शराब के नशे में गार्ड के साथ बुरा बर्ताव करने का आरोप लगा था।
  • वहीं इसके बाद मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने शाहरुख पर 5 साल का बैन भी लगा दिया था।
  • साल 2012 में शाहरुख खान, एक पार्टी में फराह खान के पति शिरीष कुंदर को थप्पड़ मारने की वजह से भी काफी विवादों में रहे थे।
  • साल 2008 में कैटरीना कैफ की बर्थडे पार्टी में शाहरुख और सलमान खान आपस में लड़ गए थे।

Leave a Reply