मुकेश अंबानी का जीवन परिचय

मुकेश अंबानी का जीवन परिचय

मुकेश अंबानी – प्राथमिक जीवन

मुकेश धीरूभाई अंबानी जिन्हे मुकेश अंबानी के नाम से जाना जाता है। मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन,अदेन में हुआ था। मुकेश अंबानी के पिता का नाम धीरूभाई अंबानी था ,जो कि भारत के जाने-माने उद्योगपति में से एक थे। धीरूभाई अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्री की स्थापना की थी। जो एक कमोडिटी-ट्रेडिंग व्यवसाय से विकसित हुआ, जिसे उन्होंने शुरू में एक कमरे के किराये की जगह से आरआईएल में संचालित किया था।मुकेश अंबानी के एक भाई हैं, जिनका नाम अनिल अंबानी है यह भी भारत के जाने-माने उद्योगपतियों में से एक है, जो की वर्तमान समय में रिलायंस इंडस्ट्री के प्रमुख है। मुकेश अंबानी की दो बहने भी हैं, जिनका नाम नीना और दीप्ति अंबानी है, जो वर्तमान समय में खुशहाल विवाहित जीवन व्यतीत कर रही हैं। वर्तमान में मुकेश अंबानी भारतीय व्यापारी, उद्यमी और प्रसिद्ध उद्योगपति है। मुकेश अंबानी भारत के साथ-साथ पूरे एशिया के सबसे धनी व्यक्ति है। मुकेश अंबानी की पत्नी का नाम नीता अंबानी है।

मुकेश अंबानी – शिक्षा

मुकेश अंबानी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के हिल ग्रेस हाई स्कूल से की, इसके बाद इन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई केमिकल इंजीनियर विषय में मुंबई के रसायन औद्योगिक संस्थान से पुरी करी। अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद आगे की शिक्षा हासिल करने के लिए मुकेश अंबानी अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया और इसके बाद बताया जाता है, कि मुकेश अंबानी ने बीच में ही अपनी पढ़ाई छोड़कर भारत वापस आने की इच्छा जाहिर की और भारत वापस आ गए। हालांकि, उन्होंने 1981 में पारिवारिक व्यवसाय में शामिल होने के लिए कार्यक्रम छोड़ दिया, जहां उन्होंने कंपनी में विविधता लाने के लिए काम किया, संचार, बुनियादी ढांचे, पेट्रोकेमिकल्स, पेट्रोलियम रिफाइनिंग, पॉलिएस्टर फाइबर, और गैस और तेल उत्पादन सहित कई क्षेत्रों में उद्यम किया।

नाम मुकेश अंबानी
जन्म तिथि19 अप्रैल 1957 ( यमन,अदेन )
उम्र 64 साल (2021)
पेशा व्यापारी, उद्यमी, उद्योगपति
पत्नी नीता अंबानी
विश्व रैंक11वीं
भरतीय रैंक1 (पहला स्थान)
उद्योगरिलायंस इंडस्ट्री
गृहनगरमुंबई, महाराष्ट्र
जाति वैश्य (गुजराती मोध बनिया)
राष्ट्रीयता भारतीय

मुकेश अंबानी का करियर

मुकेश अंबानी का जन्म हुआ था तब इनका परिवार इतना अमीर नहीं हुआ करता था। जिस वक्त मुकेश अंबानी स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से अपनी एमबी की पढ़ाई कर रहे थे, उस वक्त उनके पिता को गवर्नमेंट से पॉलिस्टर फिलामेंट यार्न के विनिर्माण से जुड़ा हुआ लाइसेंस मिला था, जिस लाइसेंस के मिलने के बाद धीरूभाई अंबानी पॉलिस्टर फिल्म एनटीआर का प्लांट खोलने के लिए मुकेश अंबानी को भारत वापस बुला लिया जिससे वह अपने पिता धीरूभाई अंबानी के साथ इस प्रोजेक्ट में साथ मिलकर काम करना शुरू कर सकें। मुकेश अंबानी जब 18 साल के थे, तभी वह अपने पिता का व्यापार संभालने लगे थे और धीरूभाई अंबानी ने अपनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री के बोर्ड मेंबर में मुकेश अंबानी को शामिल कर लिया था।

मुकेश अंबानी कि करियर का शुरुआत रिलायंस इंडस्ट्री से ही हुआ था इसकी वजह से ही वे आज इतने बड़े मुकाम पर पहुंच पाए हैं, यह व्यापार इनको विरासत में इनके पिता से मिला था, लेकिन अपनी मेहनत और लगन से मुकेश अंबानी ने आज अपने पिता धीरूभाई अंबानी की इस रिलायंस इंडस्ट्री को आज विश्व भर में एक अलग मुकाम पर पहुंचा दिया है, उनकी मेहनत से ही वे पूरे भारत में सबसे धनी व्यक्ति बन गए।जिससे हम कह सकते हैं कि मुकेश अंबानी उसके लायक थे जो इंडस्ट्री उन्हें विरासत में मिली थी। साथ ही आज इनका पूरा परिवार उनकी पत्नी नीता अंबानी और उनके सभी बच्चे आज इस कंपनी के लिए अपना पूरा सहयोग देते हैं, जिसकी वजह से आज रिलायंस इंडस्ट्री 230 बिलीयन यूएसडी डॉलर यानी 1710000 करोड का बिजनेस करती है।

2002 में धीरूभाई की मृत्यु के बाद, मुकेश अंबानी और उनके भाई अनिल अंबानी ने रिलायंस कंपनियों का संयुक्त नेतृत्व ग्रहण किया। हालांकि, नियंत्रण को लेकर भाइयों के बीच के झगड़े ने उनकी मां कोकिलाबेन अंबानी को एक गैर-प्रतिस्पर्धा समझौते (2006-10) के माध्यम से रिलायंस की संपत्ति को विभाजित करने के लिए प्रेरित किया, जिसके तहत मुकेश ने रिलायंस की छत्रछाया में आरआईएल के रूप में गैस, तेल और पेट्रोकेमिकल इकाइयों का नियंत्रण ग्रहण किया। समूह। अंबानी को दुनिया की सबसे बड़ी स्टार्ट-अप पेट्रोलियम रिफाइनरी बनाने के साथ-साथ कई अत्याधुनिक विनिर्माण सुविधाओं के निर्माण का श्रेय दिया गया है, जिससे आरआईएल की उत्पादन क्षमताओं में काफी वृद्धि हुई है।

2006 में उन्हें वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) के इंडिया इकोनॉमिक समिट के सह-अध्यक्ष के लिए चुना गया था – एक अंतरराष्ट्रीय संगठन जो दुनिया के कुछ प्रमुख व्यापारिक नेताओं, राजनेताओं, नीति निर्माताओं, विद्वानों, परोपकारी, ट्रेड यूनियनवादियों और गैर-सरकारी प्रतिनिधियों से बना है। संगठन जो वैश्विक वाणिज्य, आर्थिक विकास, राजनीतिक चिंताओं और महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सालाना बुलाते हैं। अगले वर्ष वह भारत के पहले खरबपति रुपये बन गए।

2007 में द इकोनॉमिक टाइम्स अखबार और समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया ने एक साथ अंबानी को दुनिया के सबसे अमीर आदमी का नाम दिया। अगले वर्ष उन्होंने मुंबई इंडियंस, एक इंडियन प्रीमियर लीग क्रिकेट टीम बनाई। 2010 में उन्हें WEF फाउंडेशन बोर्ड के सदस्य के रूप में सेवा देने के लिए चुना गया था।

मुकेश अंबानी का परिवार

मुकेश अंबानी भारत के सबसे प्रखर उद्योगपति स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी के पुत्र हैं। धीरूभाई अंबानी एक भारतीय उद्यमी एवं रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक थे।मुकेश अंबानी के भाई अनिल अंबानी रिलायंस (अनिल “धीरूभाई अम्बानी” समूह) के प्रमुख हैं। यह समूह दूरसंचार, बिजली, प्राकृतिक संसाधनों, बुनियादी सुविधाओं और वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में काम करता है। मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के सामाजिक एवं धर्मार्थ कार्यो को देखती हैं। उनके तीन बच्चे हैं: आकाश, ईशा और अनंत।वर्तमान में उनका परिवार मुंबई में एक निजी 27 मंजिला इमारत में रहता है, जिसका नाम ‘एंटीलिया’ है। जो माना जाता है कि यह इतिहास का सबसे महंगा घर है, जिसका मूल्य 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर है।

मुकेश अंबानी की प्रमुख कंपनी

Network 18

जिओ और रिलायंस पेट्रोलियम की शुरुआत करने से पहले मुकेश अंबानी ने Network18 की स्थापना की थी, जो एक भारतीय मीडिया कंपनी है, इसकी स्थापना सन 1996 में हुई थी। 1996 में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर इस कंपनी को, 2006 में एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदल दिया गया। वेब18 सॉफ्टवेयर सर्विसेज, टीवी18 ब्रॉडकास्ट, कैपिटल18 Network18 की होल्डिंग कंपनी है।

Jio

जियो जो के मोबाइल इंडस्ट्री कंपनी है, जिसकी स्थापना 15 फरवरी 2007 में हुई थी। आज के समय में भारत और विश्व में शायद ही कोई ऐसा होगा जो JIO का नाम नहीं जानता होगा, क्योंकि जियो ने आते ही पूरे मार्केट में ऐसी धूम मचा दी कि आज जिओ मोबाइल इंडस्ट्री मार्केट में अपनी एक अलग ही पहचान बना ली है। आज भारत भर में जिओ के काफी ज्यादा यूजर हैं, जो कि काफी सालों से चलते आ रहे हैं एयरटेल कंपनी को भी पीछे करते हुए जियो काफी आगे निकल गई है, और अब जिओ कंपनी ने अपना जिओ फाइबर भी लॉन्च कर दिया है, जोकि वर्तमान समय में धीरे धीरे काफी ज्यादा मार्केट हासिल कर रहा है।

Reliance Petroleum

रिलायंस पेट्रोलियम एक भारतीय पेट्रोलियम कंपनी है, जो भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की कंपनियों में से एक मणि जानती है। तथा आईएनएस कंपनी के मालिक मुकेश अम्बानी है, जिसका मुख्यालय (Headquartered) अहमदाबाद, गुजरात, में स्थित है।

Reliance Retail

रिलायंस रिटेल एक भारतीय रिटेल कंपनी है और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी है, जिसकी स्थापना करीब 16 साल पहले 2006 में हुई थी। इस कंपनी के संस्थापक मुकेश अंबानी है, जिसका मुख्यालय महाराष्ट्र के मुंबई शहर में स्थित है।

मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति

फोर्ब्स के अनुसार मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति 2021 के मुताबिक 4 अरब डॉलर बढ़कर 92.7 अरब डॉलर हो गई है। जिसके चलते भारतीय उद्योगपति मुकेश अंबानी विश्व के सबसे आमिर व्यक्तिओ की गिनती में 11वें स्थान पर है।

मुकेश अंबानी की मुंबई इंडियंस टीम

मुकेश अंबानी ने साल 2008 में आईपीएल (IPL) की मुंबई इंडियंस टीम की फ्रेंचाइजी को खरीदा था।और यह टीम आईपीएल की सबसे प्रसिद्ध टीमों में से एक साबित हुई जो कि वर्तमान समय में भी सबसे सफल टीम बनी हुई है। इस टीम की इस वक्त कीमत करीबन 809 करोड़ यानी 115 मिलीयन यूएसडी डॉलर है।

मुकेश अंबानी को प्राप्त पुरस्कार और उपलब्धियां

  • 2004 में मुकेश अंबानी ने कुल दूरसंचार के क्षेत्र में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के लिए ‘विश्व संचार पुरस्कार’ मिला था।
  • 2007 में उन्हें यूनाइटेड स्टेट्स-इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा ‘यूनाइटेड स्टेट्स-इंडिया बिजनेस काउंसिल लीडरशिप अवार्ड’ से सम्मानित किया गया। उसी वर्ष, उन्होंने गुजरात सरकार द्वारा प्रस्तुत ‘चित्रलेखा पर्सन ऑफ द ईयर अवार्ड’ जीता।
  • 2010 में एनडीटीवी इंडिया द्वारा उन्हें ‘बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर’ और वित्तीय वर्ष का ‘बिजनेसमैन ऑफ द ईयर’ नामित किया गया था.
  • 2010 में उन्हें पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय द्वारा ‘स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग और एप्लाइड साइंस डीन के पदक’ के साथ प्रस्तुत किया गया।
  • 2010 मे वह बिजनेस काउंसिल फॉर इंटरनेशनल अंडरस्टैंडिंग द्वारा प्रस्तुत ‘ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड’ के विजेता भी बने।
  • 2010 में मुकेश अंबानी ने मानद डी.एस.सी. (डॉक्टर ऑफ साइंस) (मानद कोसा) महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय, बड़ौदा से डिग्री प्राप्त की।
  • 2014 में वह फोर्ब्स की दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों की सूची में 36 वें स्थान पर थे।
  • उन्हें एशिया सोसायटी, वाशिंगटन डी.सी., यूएसए द्वारा एशिया सोसायटी लीडरशिप अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।
  • 2016 में, रिलायंस ने 4 जी फोन सेवा Jio के लॉन्च के साथ भारत के हाइपर-प्रतिस्पर्धी दूरसंचार बाजार में मूल्य युद्ध छिड़ गया।
  • Jio ने 300 मिलियन से अधिक ग्राहकों को मुफ्त घरेलू वॉयस कॉल, सस्ती डेटा सेवाओं की सुविधा प्रदान की।

Leave a Reply