उसैन बोल्ट का जीवन परिचय

उसैन बोल्ट (Usain Bolt)। दुनिया के सबसे तेज धावक है, Usain Bolt ने सबसे तेज और फर्राटेदार दौड़ने वाले एथलीट के रूप में अपनी अलग ही पहचान बना ली हैं।

उसैन बोल्ट का जन्म और प्रारंभिक जीवन

उसैन बोल्ट का जन्म 21 अगस्त, 1986 को वेस्टइंडीज , जमैका में हुआ था। उसैन की पिता का नाम वेलेस्ली बोल्ट है तथा उनके माता का नाम जेनिफर बोल्ट है।दोनों ही ग्रामीण इलाके में किराने की दुकान चलाते हैं। बेहद मुश्किलों से उसैन बोल्ट के माता-पिता ने अपने तीनों बच्चों को पाल पोस कर बड़ा किया है । बचपन से ही उसैन को खेल के प्रति विशेष लगाव था। खेलों में भी उन्हें क्रिकेट में अधिक रुचि थी। कहा जाता है कि यदि वह एक धावक नहीं बनते तो एक क्रिकेटर या एक तेज गेंदबाज जरूर होते।

नाम उसैन बोल्ट
उपनामलाइटनिंग बोल्ट
जन्मतिथि21 अगस्त 1986
जन्मस्थानजमैका, वेस्ट इंडीज
पिता का नामजेनिफर बोल्ट
माता का नामवेलेस्ली बोल्ट
व्यवसाय धावक
राष्ट्रीयताजमैका
भाईसदीकी बोल्ट
बहनशेरिना बोल्ट

उसैन बोल्ट की शिक्षा

उसैन बोल्ट ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा वेल्डेनसिया प्राथमिक विद्यालय से शुरू की थी। 12 वर्ष की उम्र में ही 100 मीटर में उसैन बोल्ट ने अपने स्कूल के सबसे तेज धावक के रूप में पहचान बना ली थीं। इसके पश्चात वे विलियम निब मेमोरियल हाई स्कूल में प्रवेश किया। बचपन में बोल्ट को क्रिकेट और फुटबॉल में काफी रुचि थी। स्कूल पीरियड में क्रिकेट खेलने के दौरान उनके पिच पर दौड़ने की स्पीड से प्रभावित होकर उनके कोच ने उन्हें ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में कोशिश करने की सलाह दी। उनके सलाह मानकर वे ट्रैक एंड फील्ड की प्रतिस्पर्धा का ट्रेनिंग लेने लगे। आज उसी का परिणाम है कि दुनिया का सबसे तेज इंसान उसैन बोल्ट हमारे बीच है।

उसैन बोल्ट को शिक्षा के लिए वाल्डेनसिया प्राइमरी स्कूल भेजा गया। यही वह स्कूल था जब वह उसैन को एक धावक के रूप में संभावनाएं प्रदर्शित हुई। दरअसल, इस स्कूल में उसैन ने 100 मीटर की दौड़ करके प्रतियोगिता जीती थी।जिसके बाद उन्हें विलियम निब मेमोरियल हाई स्कूल में दाखिला करवाया गया। ग्रेजुएशन के बाद भी स्कूल में क्रिकेट खेलने लगे, लेकिन उनके कोच को उसैन में क्रिकेटर के बदले एक धावक दिखा आगे। उसैन ने आगे चलकर 200 मीटर की रेस में भाग लिया।लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात यह थी कि उन्होंने 22.04 सेकेंड के अंदर की दौड़ पूरी कर ली।

उसैन बोल्ट का कैरियर

2002 के विश्व जूनियर चैंपियनशिप से किंग्स्टन, जमैका के घरेलू प्रशंसकों के समक्ष बोल्ट को विश्व मंच पर अपने को साबित करने का मौका मिला. 15 साल की उम्र में ही वे काफी लंबे हो गये थे 1.96 मीटर (6 फ़ुट 5 इंच) और शारीरिक रूप से अपने साथियों से बड़े दिखने लगे।20.61 सेकेंड में 200 मीटर स्पर्धा जीतना उनका नया व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। जमैकन रिले स्प्रिंट टीम के एक सदस्य के रूप में बोल्ट ने दो रजत पदक जीते और 4×100 मीटर व 4 × 400 मीटर रिले दौड़ क्रमश: 39.15 सेकेंड और 3:04.06 के समय के साथ एक नया जूनियर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। बोल्ट की 200 मीटर स्पर्धा में हुई जीत ने उन्हें अब तक का सबसे कम उम्र का विश्व जूनियर स्वर्ण पदक विजेता बना दिया।

पदकों का सिलसिला निरंतर जारी रहा और उन्होंने 2003 के युवा विश्व चैंपियनशिप में एक अन्य स्वर्ण पदक जीता. और 20.40 सेकेंड समय के साथ 1.1 मिनट/ सेकेंड की गति वाली हेड विंड के बावजूद 200 मीटर स्पर्धा जीतकर एक नया चैम्पियनशिप रिकॉर्ड बनाया. 200 मीटर विश्व रिकार्ड धारक माइकल जॉनसन की बोल्ट क्षमता पर नजर पड़ी, पर यह युवा धावक ज्यादा दबाव में आ सकता है, इसकी चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि”यह इस बात पर निर्भर करता है कि तीन चार व पांच साल में वे कैसा प्रदर्शन करते हैं।”।बोल्ट एथलेटिक्स की पूर्व परंपराओं से भी प्रभावित थे और उन्हें 2002 के लिए IIAF राइजिंग स्टार अवार्ड भी मिला। इसके बाद बोल्ट का जीत का सिलसिला चलता रहा|

2002 – उसैन बोल्ट ने सन 2002 में विश्व जूनियर चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और 200 मीटरकी दूरी तय कर उन्होंने स्वर्ण पदकजीता। गौरतलब है कि इस प्रतियोगिता में उसैन सबसे कम उम्र के थे।

2004 – उसैन बोल्ट इसमें आगे बढ़ना चाहते थे यही वजह है कि उन्होंने 19.93 सेकेंड के अंदर दौड़ पूरी कर ली। इस दौड़ के साथ ही वे एक जूनियर धावक बन गए। लेकिन उनकी चोट बीच में आ गई।इस वजह से वे 2 सीधे राउंड नहीं खेल पाए। साल 2004 में उसैन एथेंस ओलंपिक का हिस्सा बन गए।

2005:- उसैन ने 2005 में 19.99 सेकंड में 200 मीटर की दौड़ पूरी की। यह सब हो पाया उनके नए कोच ग्लेन मिल्स के निर्देशन से।

2006:- साल 2006 हुसैन के लिए बेहद खराब था क्योंकि उन्हें हैमस्ट्रिंग की चोट लगी जिससे वे राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर हो गए।

2007:- जापान में विश्व चैंपियनशिप आयोजित की गई थी जिसमें 200 मीटर की दौड़ बोल्ट ने 19.91 सेकेंड में पूरी की। इसके बावजूद वह यह खेल नहीं जीत पाए क्योंकि टायसन ने 19.76 सेकेंड में रेस जीती थी।

2008:- बीजिंग ओलंपिक खेलों में बोल्ट ने 100 मीटर की रेस 9.69 सेकंड में जीता। इसके बाद 200 मीटर की फाइनल उन्होंने 19.30 सेकंड में जीता। उन्हें बीजिंग ओलंपिक में 4X100 मीटर रिले रेस में तीसरा स्वर्ण पदक मिला। लेकिन डोपिंग के दोषी पाए जाने के बाद उनका यह स्वर्ण पदक छीन लिया गया।

2011:- विश्व चैंपियनशिप दाईगु में 200 मीटर की दौड़ उन्होंने 19.40 सेकंड में जीती। 4X100 मीटर रिले भी अपने साथियों के साथ 37.04 सेकेंड में पूरी की और जीती।

2012:- ग्रीष्म कालीन ओलंपिक में उसैन बोल्ट ने लगातार दो ओलंपिक रेस जीती। उन्होंने 100 मीटर की रेस 9.63 सेकंड में तथा 200 मीटर की 19.2 सेकंड में जीती।2013:- विश्व चैंपियनशिप जो कि मास्को में आयोजित की गई थी में बोल्ट ने 100 मीटर की रेस 9.77 सेकंड में तथा 200 मीटर की रेस 19.66 सेकंड में पूरी की। रिले फाइनल में उन्होंने स्वर्ण पदक जीता।

2014:- राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने 4×100 मीटर रिले रेस में हिस्सा लेकर स्वर्ण पदक जीता।

2015:- बीजिंग विश्व कप चैंपियनशिप में 100 मीटर में 9.79, 200 मीटर में 19 .55 सेकंड तथा 4× 100 मीटर रिले रेस में 37.6 सेकेंड में पूरी की।2016:- रियो ओलंपिक में उन्होंने 100 मीटर में 9.81 सेकंड 200 मीटर में 19.78 सेकंड का समय लिया।

2017:- विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 100 मीटर की रेस में 9.95 सेकंड से कांस्य पदक जीता। इसके बाद उसैन बोल्ट ने कोई और रेस नहीं किया। यानी कि यह रेस उनके करियर की अंतिम रेस रही। इसके बाद उन्होंने सन्यास ले लिया।

उसैन बोल्ट के विश्व रिकार्ड्स

  • 2008 में बोल्ट ने 100 मीटर में एक विश्व रिकार्ड बनाया बोल्ट ने 100 मीटर को 9.69 सेकण्ड में पूरा कर लिया।
  • बोल्ट ने बीजिंग ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक में 100, 200 मीटर में हिस्सा लिया था।
  • बोल्ट ने क्वार्टरफाइनल और सेमीफाइनल में 9.92 और 9.85 सेकण्ड में दुरी तय करके फाइनल में जगह बनाई। हालांकि फाइनल में 200 मीटर की दौड़ को 19.19 सेकण्ड में पूरा किया जो रिकार्ड्स बन गया|

उसैन बोल्ट को मिले अवार्ड्स और उपलब्धियां

  • विश्व भर में दौड़कर के नाम कमाने वाले उसैन बोल्ट दुनिया के सबसे बड़े तेज धावक है इस वजह से उन्हें कई प्रकार के अवार्ड से सम्मानित किया गया है।
  • उसैन बोल्ट को चार बार वर्ल्ड स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर का अवार्ड से नवाज़ा गया
  • उन्हें 6 बार आईएएएफ मेल अथिलीट ऑफ द ईयर ऑफ अवार्ड मिले।
  • इसके साथ ही वे कई कंपनियों के ब्रांड एंबेसडर भी रह चुके हैं। उसैन बोल्ट का जमैका में खुद का रेस्टोरेंट भी है जिसका नाम ट्रैक एंड रिकार्ड्स है।
  • इसके अलावा बोल्ट ने गरीब और जरूरतमंदों की मदद के लिए एक संस्था खोल रखी है जिसका नाम है उसैन बोल्ट फाउंडेशन।

Leave a Reply