विराट कोहली का जीवन परिचय

विराट कोहली क्रिकेट की दुनिया के ऐसे खिलाड़ी है जिसे हर कोई जानता है और साथ ही इन्हें करोड़ों लोग चाहते है यह एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर है यह दाये हाथ से खेलने वाले सबसे होनहार क्रिकेटरों मे से एक है। विराट कोहली टीम इंडिया के कप्तान रह चुके हैं ,इसके साथ साथ ही 2003 से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मे राँयल चैलेंजर्स बंगलोर की टीम के कप्तान है। इनका क्रिकेट के प्रति बचपन से रुझाव था, जिसको देख कर इनके पिता ने इनको सही मार्गदर्शन दिया और आगे बढ़ाया, जिससे आज ये इस मुकाम पर पहुचे।

विराट कोहली का जन्म और पारिवार की जानकारी

विराट कोहली का जन्म 05 नवम्बर 1988 को दिल्ली मे हुआ। यह एक पंजाबी परिवार में पैदा हुए। इनके पिता का नाम प्रेम कोहली है, यह एक क्रिमिनल एडवोकेट है।इनकी माता का नाम सरोज कोहली है, यह बहुत साधारण ग्रहिणी है। इनके परिवार में इनसे बड़े एक भाई और एक बहन भी है। जब विराट 3 साल के थे तभी से ये अपने पापा के साथ क्रिकेट खेलते थे, तभी से इनको क्रिक्रेट खेलना अच्छा लगने लगा। यह पसंद उम्र बढ़ने के साथ शौक मे बदल रही गई , यह बात इनके पिता समझ गये थे, और अपने बेटे कि इस इच्छा के लिये वह उसे दैनिक अभ्यास के लिये लेकर जाते थे। 2006 में इनके पिता का निधन हो गया, पर यह आज भी अपने पिता की उस सीख को बहुत याद करते है।

विराट कोहली के परिवार की जानकारी नीचे टेबल में संक्षिप्त में बताई गई है

नाम विराट कोहली
पिता का नामप्रेम कोहली
माता का नामसरोज कोहली
भाईविकास कोहली
भाभीचेतना कोहली
बहनभावना कोहली
जीजाजी संजय धींगरा
शिक्षा12वीं पास
मेरिटल स्टेट्स मेरिड
पत्नीअनुष्का शर्मा कोहली
बेटीवामिका कोहली

विराट कोहली की शिक्षा

इनकी प्रारम्भिक शिक्षा विशाल भारती पब्लिक स्कूल, दिल्ली से हुई थी।इनका विशेष ध्यान क्रिकेट पर था, जिसके चलते मात्र आठ-नौ साल की उम्र मे इनके पिता ने इनको क्रिकेट क्लब मे दाखिला दिला दिया, जिससे यह सही तरीके से क्रिकेट सीख सके।जिस स्कूल मे इनकी प्रारम्भिक शिक्षा चल रही थी, वहा सिर्फ और सिर्फ शिक्षा पर ध्यान दिया जाता था, खेल का प्रशिक्षण नही दिया जाता था। तब इनके पिता ने इनकी स्कूल बदलने की सोची तथा ऐसी स्कूल मे दाखिला दिलाया जहा पर शिक्षा तथा खेल दोनों पर ध्यान दिया जाता है व कक्षा नवी से इनको सेविअर कॉन्वेंट सीनीयर सेकेंडरी स्कूल,पश्चिम विहार, दिल्ली मे दाखिला दिला दिया।खेल मे रूचि होने के कारण इन्होंने मात्र बारहवीं तक शिक्षा हासिल की तथा पूरी तरह से क्रिकेट पर मेहनत करी।इन्होंने राज कुमार शर्मा से दिल्ली क्रिकेट एकेडमी मे क्रिकेट सिखा तथा सुमित डोंगरा नाम की एकेडमी मे पहला मैच खेला।

विराट कोहली का करियर

विराट कोहली का क्रिकेटिंग कैरियर की शुरुवात तो जब वो 3 साल के थे तभी से उन्होनें पहली बार बैट अपने हाथों में थाम लिया था , परंतु सही मायने में सन् 2002 में विराट कोहली को पहली बार दिल्ली की अंडर-15 टीम में सम्मिलित किया गया। इसी वर्ष विराट कोहली ने आओनी टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाये थे। जिससे खुश होकर उनको अगले सत्र के लिए टीम का कप्तान घोषित कर दिया गया था। ये उनके जीवन की पहली कामयाबी थी ।

वर्ष 2004 में उनको दिल्ली क्रिकेट टीम की अंडर 17 टीम का सदस्य बना लिया गया था। टीम में शामिल किये जाने के अगले साल उन्होनें विजय मर्चेंट ट्राफी में 7 मैचों में 757 रन बनाये थे। इसके साथ ही उन्होनें सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया था। उनका एवरेज उस ट्राफी मैं 84.11 का था।

2006 में विराट कोहली को भारत की अंडर 19 टीम में शामिल किया गया । उन्होनें इंग्लैंड के विरुद्ध अपनी पहली अंडर 19 श्रृंखला खेली। इसके बाद उन्होनें पाकिस्तान के विरुद्ध अपनी दूसरी अंडर 19 श्रृंखला मैं अच्छा प्रदर्शन किया । जिसकी बदौलत उनको अंडर 19 टीम का एक स्थायी सदस्य बना लिया गया ।विराट कोहली ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच 2006 में दिल्ली की टीम के लिए तमिलनाडु के विरुद्ध खेला था। इसी वर्ष उनके पिताजी की मृत्यु की खबर सुनने के बाद भी वो कर्नाटक के खिलाफ अपना मैच खेलते रहे । मैच के बाद वो सीधे अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए गए। इसमें उन्होनें 90 रन बनाये थे।

2008 में यह अंडर नाइनटीन के लिये चुने गये। इनका पहला अंडर नाइनटीन विश्वकप मैच मलेशिया मे हुआ तथा इस मैच मे इंडिया की जीत हुई।यहाँ से इनके करियर ने एक अलग मोड ले लिया था।इसके बाद इनका प्रदर्शन देखकर इनका चयन वन डे इंटरनेशनल के लिए हुआ। इन्होंने यह मैच मात्र 19 साल की उम्र मे श्रीलंका के खिलाफ खेला था। यह उनके लिये बड़ी गर्व की बात थी कि इतनी जल्दी उनके एक के बाद एक मैच मे सिलेक्शन होते गये ।

फिर 2011 मे वर्ल्ड कप खेलने का मौका मिला, उसमे भी इंडिया की जीत हुई।इसी के साथ सन् दो हजार ग्यारह मे इन्होंने टेस्ट मैच खेलना शुरू किये और टेस्ट मैच मे अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिया। 2013 में इन्होंने ओडीआई मे शतक बना कर खुद को साबित कर दिखाया।इनके बाद टवेंटी-टवेंटी मैच खेल कर उसमे भी लगातार सफल हुए,2014 और 2016 में दो बार मेंन ऑफ द मैच का ख़िताब अपने नाम किया। इसी के साथ इन्होंने वर्ष 2014-16 तक लगातार एक सामान खेल कर भारत की जीत दर्ज कराई, इतने उम्दा प्रदर्शन के बाद इनकी गिनती सबसे अच्छे बल्लेबाजों मे होने लगी।

वन डे इंटरनेशनल(ओडीआई) में करियर

2011 मे टेस्ट मैच मे जगह बनाने के बाद ओडीआई में अपने करियर की शुरुआत छठवे स्थान पर बेटिंग कर शुरू की , लगातार दो मैच हार गये लेकिन उसके बाद के मैच में इन्होंने 116 रन बनाकर सभी का दिल जीत लिया। लेकिन यह मैच भी भारत नही जीत पाई, पर शतक बनाने वाले एक मात्र भारतीय क्रिकेटर बने।इसके बाद कॉमनवेल्थ बैंक ट्राएंगुलर सीरीज़ मे ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ सात मैच मे से दो मे जीत हासिल की, एक मैच टाय हो गया तथा चार मैच इंडिया हार गई। पर यहा फाइनल मे क्वालीफाई करने के एक और मैच जों कि श्रीलंका के खिलाफ खेल कर बोनस हासिल करना था, उसमे 321 रन का टारगेट था, जिसमे से 133 रन इन्होंने बना कर भारत की जीत दर्ज कराई तथा मैन ऑफ दी मैच का ख़िताब जीता। इस मैच मे मजेदार बात यह थी कि लाथिस मलिंगा जैसे खिलाड़ी ने एक ओवर मे चौबीस रन बनाये पर इनकी टीम जीत हासिल नही कर पाई।

इनके अच्छे प्रदर्शन को देख कर सन् दो हजार बारह मे इनको एशिया कप के लिये वाइस-कैप्टन चुना गया तथा कहा गया कि इसी तरह यह खेलते रहे तो भविष्य मे भारतीय टीम के कप्तान यही रहेंगे और वह इस बात पर खरे उतरे।ग्यारहवीं ओडीआई मे इन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ खेल कर एक सौ अड़तालीस गेंदों मे एक सौ तिरयासी रन बनाये जिसमे बावीस चौके एक छक्का लगा कर तीन सौ तीस रन का रिकॉर्ड भारत के खाते मे दर्ज कराया। यह एशिया कप के इतिहास का सबसे बड़ा रिकॉर्ड था, तथा इन्हें एक बार फिर इस मैच मे मैन ऑफ दी मैच का ख़िताब मिला।

वन डे इंटरनेशनल(ओडीआई) का रिकार्ड (ODI )–

इंडियन प्रिमीयर लीग (आईपीएल) मे करियर

विराट कोहली ने आईपीएल खेलने की शुरुवात 2008 में की थी।तब इनको राँयल चेलेंजर्स, बैंगलोर (आरसीबी) की टीम के लिये बीस लाख रूपये मे ख़रीदा गया था।इन्होंने तब तेरह मैचों मे 165 रन बनाये थे तथा मात्र पंद्रह का एवरेज था। 2009 में इन्होंने इनकी टीम को फाइनल तक पहुचाया, तब अनिल कुंबले ने इनके खेल की सरहना करी।यहाँ तक पहुच जाने के बाद भी अभी तक इंडियन टीम मे इनका नाम पर्मनेनट नही हुआ था।

2010-11 में भी इन्होंने बहुत मेहनत की पर यह असफल रहे इनकी पहचान अभी तक बनी नहीं थी।2012 में इनको लगा कि यदि खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करना है, तो कुछ करना होगा यह इनके करियर का टर्निंग पॉइंट था, इनके बाद से इनके खेल मे और बदलाव आया। आखिरकार दो हजार तेरह मे इन्होंने कर दिखाया और सोलह मैचों मे 635 रन तथा पैतालीस के एवरेज से खेला।सन् दो हजार चौदह मे आईपीएल मे इनका प्रदर्शन निराशाजनक था, इन्होंने मात्र सताविस के एवरेज पर खेला। यहाँ एमएस धोंनी ने टेस्ट कप्तानी से रिटायरमेंट ली, तब धोनी की जगह पर इनको टेस्ट की कप्तानी सौपी गई यहाँ यह पूरी तरह से बदल गये। वह दूसरी टीमों के कप्तान की तरह मजबूत हुए तथा उस तरह से इंडियन टीम को संभाला 2015 में विराट कोहली 500 रन का रिकॉर्ड तोड़ने में कामयाब रहें।2016 तक यह एक मंजे हुए खिलाड़ी बन चुके थे। इन्होंने एशिया कप और टी-20 मे भारत के लिये तथा आईपीएल मे आरसीबी के लिये बहुत अच्छे मैच खेले चार पारी मे सलंग जीत का परचम लहराया। 2017मे कंधे मे चोट लग जाने की वजह से यह कुछ मैच नही खेल पाये। उसके बाद 2018 में इन्हें आईपीएल मे अठारह करोड़ मे ख़रीदा गया।

टी-20 इंटरनेशनलस मे करियर-

इन्होंने टी-20 मे एक के बाद रिकॉर्ड तोड़े पर कुछ मैच में इनको विपरीत परिस्थितियों का भी सामना करना पड़ा। वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल मे अकेले ने 89 बनाने के बावजूद भारत को यह मैच नही जीता पाय, पर फिर धीरे-धीरे टी-20 इंटरनेशनलस तथा टी-20 वर्ल्डकप मे अपना स्थान जमाया तथा बहुत ही अच्छा प्रदर्शन दिया।

विराट कोहली को मिलने वाले अवार्ड की लिस्ट

विराट ने बहुत ही कम उम्र में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर अपार सफलता हासिल की है। इन्होंने अपने मैचों में कई रिकार्ड्स बनाकर अपना व अपने परिवार व देश का नाम रोशन किया है।इन्हें खेल में इनके उम्दा प्रदर्शन के चलतें कई अवार्ड्स से सम्मानित किया गया है, उन्हीं में से कुछ इस प्रकार है।

  • 2012 पीपुल चॉइस अवार्ड फॉर फेवरेट क्रिकेटर
  • 2012 आईसीसी ओडीआई प्लयेर ऑफ दी इयर अवार्ड
  • 2013 अर्जुन अवार्ड फॉर क्रिकेट
  • 2017 सीएनएन-आईबीएन इंडियन ऑफ दी इयर
  • 2017 पद्मश्री अवार्ड
  • 2018 सर गर्फिएल्ड सोबर्स ट्राफी

विराट कोहली की शादी

विराट कोहली और उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा

11 दिसंबर 2017 को अनुष्का शर्मा के साथ विराट कोहली ने शादी की। अनुष्का शर्मा एक बॉलीवुड एक्ट्रेस है।विराट और अनुष्का ने 2013 में एक ऐड कंपनी के लिये साथ काम किया था, यह इन दोनों की पहली मुलाकात थी। उसके बाद इनकी दोस्ती हुई फिर यह दोस्ती गहरी हुई, जिसके चलते इनकी डेटिंग की खबरे सामने आई, तथा अनुष्का अपने बहुत व्यस्त शेडूल मे भी इनका मैच देखने जानें लगी थी। 11 जनवरी 2021 को विराट कोहली पिता बने। विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा ने बेटी को जन्म दिया जिसका नाम वामिका रखा गया।

विराट कोहली की आय

यह भारतीय क्रिकेट टीम के काफी महंगे क्रिकेटर है इनकी हर मैच की इनकम लाखों करोड़ो मे होती हैं। साथ ही इनके आय के कई और स्त्रोत है।इनकी आय कि कुछ जानकारी निचे टेबल में दी गई हैं।

विराट कोहली के रिकॉर्ड

विराट कोहली की प्रमुख उपलब्धियां

  • विराट कोहली 2010 में भारत की टीम में एकदिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने।
  • विराट कोहली के नाम भारत की तरफ से सबसे तेज़ शतक लगाने का रिकॉर्ड भी है। उन्होनें मात्र 52 बॉल मैं अपना शतक लगाया था।
  • विराट कोहली एकदिवसीय क्रिकेट मैं दुनिया मैं सबसे जल्दी 7000 रन बनाने वाले खिलाड़ी है। उन्होनें मात्र 161 इनिंग्स में अपने 7000 रन बना कर A.B डिविलियर्स का रिकॉर्ड तोडा ।
  • विराट कोहली ने अपने 25 शतक बहुत ही कम समय मैं पूरे किये। उन्होनें बड़े बड़े क्रिकेटरों से कम समय मैं यह कारनामा किया। आज उनके नाम एकदिवसीय फॉर्मेट मैं 30 शतक है।
  • रनों का पीछा करते हुए उन्होनें 16 शतक लगाये है । जो दुनिया में दूसरी पारी मैं दूसरा सर्वश्रेष्ठ है।
  • 2012 में उनको ICC प्लेयर ऑफ़ द इयर अवार्ड मिला।
  • 2012 में ही उनको पीपल चॉइस अवार्ड फॉर फेवरेट स्पोर्ट्समैन मिला।
  • 2013 में विराट कोहली को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरुष्कार मिला।
  • क्रिकेट में दिये गये इनके योगदान के लिये इनको 2017 मे पद्मश्री अवार्ड से समानित किया गया।

Leave a Reply