विश्व के सबसे अमीर मुकेश अंबानी का जीवन परिचय

Mukesh Ambani

“कभी भी कामयाबी को दिमाग़ में और नाकामयाबी

को दिल में जगह न देना !

क्योंकि कामयाबी दिमाग़ में घमंड और नाकामयाब

दिल में मायूसी पैदा करती है !!”

मुकेश अंबानी कौन है?

मुकेश अंबानी ना केवल इंडिया के बल्कि विश्व के भी सबसे शक्तिशाली व्यापारियों में से एक हैं। इस वक्त रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और एमडी के रूप में कार्य कर रहे हैं और इनकी ये कंपनी विश्व की सबसे फेमस कंपनियों में से एक है। के पास कितनी संपत्ति है, इस बात का अनुमान इस चीज से लगाया जा सकता है, कि इनकी कुल संपत्ति से 20 दिनों तक भारत सरकार हमारे देश को चलाने का खर्चा उठा सकती है।

जीवन से जुड़ी विशेष जानकारी, समर्पण सहित आगामी विचार व्यवस्था –

नाम मुकेश धीरूभाई अंबानी
जन्मदिन 19 अप्रैल 1957, भारत
आयु (2022 के अनुसार) 65 वर्ष
नागरिकता भारतीय
गृह नगर मुंबई
पेशा भारतीय व्यवसायी और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के सीईओ और अध्यक्ष
अचीवमेंट एशिया के सबसे अमीर व्यापारी

मुकेश अंबानी का प्रारंभिक जीवन

मुकेश अम्बानी का जन्म 19 अप्रैल, 1957 में यमन स्थित अदेन शहर में धीरुभाई अम्बानी और कोकिलाबेन अम्बानी के घर हुआ था। उस समय उनके पिता अदेन में काम करते थे। मुकेश अम्बानी के छोटे भाई अनिल अम्बानी हैं और उनकी दो बहने भी हैं – दीप्ती सल्गओंकर और नीना कोठारी। 1970 के दशक तक मुकेश अम्बानी का परिवार मुंबई के भुलेश्वर में दो कमरों के मकान में रहता था पर उसका बाद धीरुभाई ने मुंबई के कोलाबा क्षेत्र में एक 14 मंजिल ईमारत (सी विंड) खरीद लिया जहाँ मुकेश और अम्बानी परिवार के अन्य सदस्य कई सालों तक रहे।

मुकेश अंबानी की शिक्षा

मुकेश की प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के पेद्दर रोड स्थित ‘हिल ग्रान्ज हाई स्कूल में हुई। यहाँ मुकेश के करीबी मित्र आनंद जैन उनके सहपाठी थे और इसी स्कूल में उनके छोटे भाई अनिल अम्बानी भी पढ़ते थे। मुकेश अम्बानी ने ‘इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी, माटुंगा’ से केमिकल इंजीनियरिंग ऑफ़ बैचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग की डिग्री ग्रहण की। इसके पश्चात मुकेश ने एम.बी.ए. करने के लिए स्तान्फोर्ड विश्वविद्यालय में दाखिला लिया पर एक साल बाद ही अपने पिता धीरुभाई अम्बानी की मदद करने के लिए पढ़ाई छोड़ दी।

मुकेश अंबानी का पारिवारिक जीवन

इनके जन्म हुआ उस समय इनके माता-पिता यमन में ही रहते थे और यही काम करते थे। मुकेश अम्बानी के 2 बहन और एक छोटा भाई है। 1957 में ही धीरूभाई अम्बानी वापस इंडिया आ गए और फिर यहाँ से शुरू किया व्यापार जो मुकेश अम्बानी अब तक कर रहे है।मुकेश अंबानी कहते है –

” मैं मुंबई का लड़का हूँ , यहाँ की गलियों में मैंने खुद के लिए खड़ा होना सीखा है , यहाँ की सड़क किनारे दुकानों पर मैंने मोल भाव करना सीखा , यहाँ की व्यावसायिक जगहों पर मैंने धन्धा करना सीखा और यहाँ की पिक्चर हॉल में सपना देखना सीखा है। “

मुकेश अंबानी का बिज़नेस कैरियर

  • 1980 में, इंदिरा गाँधी की भारतीय सरकार ने PFY (Polyster Filament Yarn) को खोला ताकि प्राइवेट क्षेत्र विकसित हो सके। तभी धीरुभाई अंबानी ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया ताकि वे एक PFY प्लांट खोल सके। उस समय उस क्षेत्र में टाटा, बिरला और 43 दूसरी कंपनियों से कड़ी टक्कर के बावजूद वह लाइसेंस धीरुभाई को दिया गया। अपने इस PFY प्लांट को आगे बढ़ाने के लिए धीरुभाई को किसी की मदद की जरुरत थी इसलिए उन्होंने Stanford University में पढ़ रहे बेटे मुकेश अंबानी को अपनी मदद के लिये बुलाया।
  • बाद में मुकेश ने रिलायंस पोलिस्टर में मदद करना बंद कर दिया और 1981 में फिर रिलायंस पेट्रोलियम रसायन को शुरू किया गया। और मुकेश अंबानी ने रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड (अभी रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड) की स्थापना की। जिसका मुख्य उद्देश भारत के जानकारी और कम्युनिकेशन तंत्रज्ञान क्षेत्र में ध्यान देना था।
  • अंबानी आगे बढ़ते गये और उन्होंने दुनिया का सबसे बड़ा पेट्रोलियम रिफायनरी, जामनगर, भारत में बनाया। जिसकी 660000 (33 मिलियन टन प्रति वर्ष) बैरल प्रति दिन भरने की क्षमता है, जो 2010 में भारत की सर्वाधिक प्रचलित पेट्रोलियम क्षेत्र और पॉवर जनरेशन के मामले में उच्च दर्जे की इंडस्ट्री थी। 18 जून 2014 को मुकेश अंबानी रिलायंस की 40 वे एनुअल जनरल मीटिंग को सम्बोधित करते हुए कहा की वो आने वाले 3 सालो में 1.8 ट्रिलियन रुपये अलग-अलग व्यवसाय में इन्वेस्ट किया साथ ही भारत में 2015 में 4G सर्विसेस भी लागू की।

मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति

विश्व के सबसे अमीर लोगों में शामिल मुकेश अंबानी ने अपने व्यापार के जरिए कई सारे पैसे कमा रखे हैं और इन्होंने दुनिया के कई देशों में कई सारी प्रॉपर्टी भी खरीद रखी है. हाल ही में ये एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति भी बन गए हैं और विश्व के सबसे अमीर परिवार में इनका नंबर सातवें स्थान पर है।

नेट वर्थ 2,60,622 करोड़
सालाना इनकम 15 करोड़
घर 12,000 करोड़
वैनिटी वैन एक, 25 लाख रुपए
कुल कारें 55 करोड़ की कीमत (आठ)
कुल विमान बोइंग बिजनेस जेट 2, फाल्कन 900EX,
कुल संपत्ति ₹2,60,622 करोड़
एयरबस 319 कॉरपोरेट जेट (तीन)

मुकेश और नीता अंबानी की प्रेम कहानी

नीता अंबानी एक गुजराती परिवार से ताल्लुक रखती हैं। नीता के परिवार में संगीत और शास्त्रीय नृत्य को काफी पसंद किया जाता रहा है और उनके परिवार में संगीत और नृत्य काफी मायने रखते हैं। नीता की माता एक प्रख्यात गुजराती लोकनर्तकी थीं। नीता जब केवल आठ साल की थीं, तभी से उनकी मां ने उन्हें नृत्य सीखाना शुरू कर दिया। नीता ने बचपन से ही नृत्य में अपनी गहरी रुचि दिखाना शुरू कर दिया था और देखते ही देखते ही वह भरतनाट्यम की एक कुशल नृत्यांगना बन गईं।

नीता पूरे गुजरात में अलग-अलग समारोहों में भरतनाट्यम प्रस्तुत किया करती थीं। एक ऐसे ही कार्यक्रम में धीरू भाई ने नीता को भरतनाट्यम करते हुए देखा। नीता के इस मंत्रमुग्ध कर देने वाले नृत्य से धीरू भाई काफी प्रभावित हुए। धीरू भाई ने देखा कि नीता न केवल शानदार नृत्य कर रही हैं बल्कि उनके सौंदर्य में भारतीय परंपरा की झलक है। धीरू भाई ने नीता के इस नृत्य को बिड़ला मातोश्री में देखा था। नीता ने जब अपना नृत्य समाप्त कर लिया तो धीरू भाई ने कार्यक्रम के आयोजक से नीता के बारे में जानकारी ली। यही नहीं धीरू भाई ने नीता का टेलीफोन नंबर लिया और उनसे जुड़े अन्य ब्यौरे अपने साथ ले गए।

मुकेश अंबानी की प्रमुख कंपनी

  • नेटवर्क 18 :- जिओ और रिलायंस पेट्रोलियम की शुरुआत करने से पहले मुकेश अंबानी ने Network18 की स्थापना की, जो एक भारतीय मीडिया कंपनी है, इसकी स्थापना 1996 में हुई थी। 1996 में एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर इस कंपनी को, 2006 में एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदल दिया गया। वेब18 सॉफ्टवेयर सर्विसेज, टीवी18 ब्रॉडकास्ट, कैपिटल18 Network18 की होल्डिंग कंपनी है।
  • जिओ :- जियो (JIO) जो के मोबाइल इंडस्ट्री कंपनी है, जिसकी स्थापना 15 फरवरी 2007 में हुई थी। आज केसमय में भारत और विश्व में शायद ही कोई ऐसा होगा जो JIO का नाम नहीं जानता हो, क्योंकि जिओ ने आते ही मार्केट में ऐसी धूम मचा दी थी, कि आज जिओ मोबाइल इंडस्ट्री मार्केट में अपनी एक अलग पहचान जमाकर बैठा हुआ है। आज भारत भर में जिओ के काफी ज्यादा यूजर हैं, जो कि काफी सालों से चलते आ रही एयरटेल कंपनी को भी पीछे करते हुए काफी आगे निकल गई है, और अब जिओ कंपनी ने अपना जिओ फाइबर भी लॉन्च कर दिया है, जोकि वर्तमान समय में धीरे धीरे काफी ज्यादा मार्केट हासिल कर रहा है।
  • रिलायंस पैट्रोलियम :- रिलायंस पेट्रोलियम एक भारतीय पेट्रोलियम कंपनी है, जो भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की कंपनियों में से एक मणि जानती है। तथा आईएनएस कंपनी के मालिक मुकेश अम्बानी है, जिसका मुख्यालय अहमदाबाद, गुजरात, में स्थित है।
  • रिलायंस रिटेल – रिलायंस रिटेल एक भारतीय रिटेल कंपनी है और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी है, जिसकी स्थापना करीब 16 साल पहले 2006 में में हुई थी। इस कंपनी के संस्थापक मुकेश अंबानी है, जिसका मुख्यालय महाराष्ट्र में स्थित मुंबई में है।

मुकेश अंबानी मुंबई इंडियंस टीम

मुकेश अंबानी ने साल 2008 में आईपीएल (IPL) की मुंबई इंडियंस टीम की फ्रेंचाइजी को खरीदा था।और यह टीम आईपीएल की सबसे प्रसिद्ध टीमों में से एक साबित हुई जो कि वर्तमान समय में भी सबसे सफल टीम बनी हुई है। इस टीम की इस वक्त कीमत करीबन 809 करोड़ यानी 115 मिलीयन यूएसडी डॉलर है।

किन-किन विवादों के शिकार हुई है मुकेश अम्बानी?

  • मुकेश अम्बानी आमतौर पर अपने छोटे भाई के साथ बिजनैस को लेकर होने वाले मतभेदों के कारण विवाद के शिकार हुए है।
  • साल 2014 में, मुकेश अम्बानी पर ’’ प्राकृतिक गैस ’’ का मूल्य बढ़ाने के लिए कानूनी शिकायत दर्ज की गई थी।
  • सरकारी कर्मचारीयो के साथ सांठ – गांठ की खबरो को लेकर भी मुकेश अम्बानी के विवादों के शिकार हुए है।
  • मुकेश अम्बानी द्धारा बनाये गये घर को लेकर भी आमतौर पर इन्हें विवादों का सामना करना पड़ता है आदि।

मुकेश अंबानी के सम्मान और पुरस्कार

  • मुकेश अम्बानी को एन डी टी वी द्वारा साल 2007 का ‘बिज़नसमैंन ऑफ़ द ईयर चुने गया।
  • यूनाईटेड स्टेटस-इंडिया बिज़नस कौंसिल (USIBC) ने वाशिंगटन में मुकेश अम्बानी को 2007 में “ग्लोबल विज़न” लीडरशिप अवार्ड दिया।
  • नवम्बर 2004 में प्राईस वाटर हाउस कूपर्स द्वारा कराये गए एवं फाइनेंशियल टाइम्स लन्दन में प्रकाशित सर्वे में मुकेश अम्बानी को चार सीईओ में दूसरा स्थान मिला।
  • अक्टूबर 2004 में टोटल टेलिकॉम ने दूरसंचार के क्षेत्र में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के तौर पर मुकेश अम्बानी को वर्ल्ड कम्युनिकेशन अवार्ड दिया।
  • वौइस् एंड डाटा पत्रिका ने सितम्बर 2004 में उन्हें ‘टेलिकॉम मैंन ऑफ़ द ईयर’ चुना।
  • फोर्च्यून पत्रिका के अगस्त 2004 अंक में सबसे शक्तिशाली कारोबारियों की एशिया पॉवर 25 सूचि में मुकेश को 13वां स्थान मिला।
  • मई 2004 में एशिया सोसाइटी, वॉशिंगटन डी सी द्वारा उन्हें एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया।
  • इंडिया टुडे के मार्च मई 2004 अंक में द पॉवर लिस्ट मई 2004 में मुकेश अम्बानी ने लगातार दूसरे साल पहला स्थान हासिल किया।
  • सन 2007 में चित्रलेखा पर्सन ऑफ़ द ईयर -2007 पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

रिलाइंस इंडस्ट्री की सफलता की कहानी

  • मुकेश अंबानी ना कि केवल अपने पिताजी के बिजनेस को संभाला बल्कि रिलायंस इंडस्ट्री में बहुत सारे नए बिजनेस प्लान लेकर आएं। रिलायंस इंडस्ट्रीज आगे की ओर बढ़ती गई।
  • 1989 में मुकेश अंबानी मेट्रो केमिकल प्लांट स्थापित किया। 1995 में कंपनी ने नाइन एक्स अमेरिकन कंपनी के साथ मिलकर रिलायंस टेलीकॉम शुरुआत किया। भारत में या प्लांट लगने के बाद 9996 देश के लिए काफी इंपोर्टेंट रहा।
  • 1998 में एलपीजी के फील्ड में कदम रखा और रिलायंस गैस के नाम से रसोई गैस कंपनी की शुरुआत किए। और इस ऐसे हीकाम करते-करते सफलता मिलते मिलते रिलायंस इंडस्ट्रीज की संपत्ति भी बढ़ती गई।
  • 2002 में धीरूभाई अंबानी की ब्रेन स्ट्रोक की वजह से मौत हो गई पिता की मौत के बाद दोनों भाइयों में संपत्ति को लेकर विवाद हो गया इन दोनों की विवाह से कंपनी को बहुत ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा इन दोनों भाइयों के झगड़े को खत्म करने के लिए उनकी मां ने रिलायंस इंडस्ट्री को दो हिस्सों में बंटवारा कर दिया मुकेश अंबानी की हिस्सों में रिलायंस इंडस्ट्री और रिलायंस पेट्रो केमिकल आ गया।
  • बंटवारे के बाद मुकेश अंबानी ने नई शुरुआत की और अपने बिजनेस को आगे बढ़ाना शुरू किया। मुकेश अंबानी की कमाई का मुख्य आमदनी का स्रोत जामनगर पैट्रोलियम रिफायनरी है।
  • 2006 में रिलायंस इंडस्ट्री में रिलायंस रिटेल मार्केट में भी कदम रखा। रिलायंस रिटेल ब्रांड नाम के अंदर पूरे देश शॉपिंग सेंटर शुरू किए रिलायंस फ्रेश स्टोर काफी मशहूर हुआ पंद्रह सौ से ज्यादा स्टोर पूरे भारत में हैं और इसका मेन सोर्स रिलायंस फ्रेश, रिलायंस ट्रेंड्स, रिलायंस डिजिटल रिलायंस, फुटप्रिंट, आदि।
  • 2010 में रिलायंस इंडस्ट्री इन्फोकॉम ब्रॉडबैंड कंपनी का शुरुआत किया।
  • 2016 में रिलायंस इंडस्ट्री टेलीकॉम सेक्टर में बहुत बड़ा चेंजिंग ईयर साबित हुआ। 2016 में रिलायंस इंडस्ट्री ने अपना टेलीकॉम सर्विस रिलायंस जिओ शुरू किया। Mukesh Ambani Biography in Hindi
  • और पूरे भारत के टेलीकॉम इंडस्ट्री को तहस-नहस कर डाला। और रिलायंस ने इसी साल LYF ब्रांड नाम से अपना स्मार्टफोन 4G लांच किया। 2016 में LYF सबसे ज्यादा बिकने वाले मोबाइल साबित हुआ। रिलायंस जिओ टेलीकॉम सेक्टर में आते ही इसने बाजार को पूरी तरह से बदल दिया।
  • और देखते ही देखते बाकी सभी टेलीकॉम कंपनियों के मुकाबले सबसे ज्यादा कस्टमर रिलायंस जिओ के बन गए और 3 साल में ही जियो टेलीकॉम की नंबर वन कंपनी बन गई। और जिओ ने 35 करोड़ से ज्यादा कस्टमर बना लिए 2019 में जियो ने लगभग 11679 करोड़ों रुपए का इनकम जनरेट किया।
  • रिलायंस इंडस्ट्री ने 2020 में जिओ मार्ट भारत के 200 शहरों में लांच किया। रिलायंस इंडस्ट्रीज मीडिया फिल्म और म्यूजिक इंडस्ट्री में भी एक्टिव है मीडिया में रिलायंस इंडस्ट्री के पास नेटवर्क 18 है नेटवर्क १८ के अंदर में कई मुख्य चैनल जैसे हिस्ट्री टीवी 18, Viacom 18, A+E Networks, कलर्स टीवी है।
  • कलर्स टीवी के साथ मिलकर रिलायंस रिलायंस टीवी ऐप भी लॉन्च हो चुका है। फिल्म में रिलायंस इंडस्ट्री Eros music टीवी के साथ मिलकर फिल्म कंटेंट प्रोड्यूस करता है म्यूजिक में रिलायंस इंडस्ट्री के पास रिलायंस इंटरटेनमेंट म्यूजिक नाम की कंपनी है स्पोर्ट्स में रिलायंस इंडस्ट्री के पास आईपीएल की सबसे अच्छी टीम मुंबई इंडियंस है। रिलायंस इंडस्ट्री में एंप्लॉयमेंट की टोटल संख्या 236000 है।
  • और आज शायद ऐसा ही कोई फील्ड है जिसमें रिलायंस इंडस्ट्री नहीं है रिलायंस इंडस्ट्री की अंबानी परिवार के पास 46.32% हिस्सेदारी है और बाकी 63.68% हिस्सेदारी दूसरे शेयर होल्डर्स के हैं।
  • रिलायंस इंडस्ट्री के कामयाबी के पीछे सबसे बड़ा हाथ मुकेश अंबानी चाहिए सही समय पर सही फैसले लेकर अपने मकसद मैं जब तक समय कामयाब रहें और ऐसे ही मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर इंसान और पूरे विश्व के 10 वें सबसे अमीर इंसान हैं।
  • रिलायंस फाउंडेशन एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसकी स्थापना 2010 में मुकेश अंबानी ने की थी। यह पूरी तरह से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के स्वामित्व में है और सबसे बड़ी गैर-लाभकारी नींव में से एक है।

Leave a Reply