Google Doodle: कौन थीं डॉक्टर कमल रणदिवे, क्यों बनाया है गूगल ने आज उनका डूडल

Google Doodle: वह भारतीय महिला वैज्ञानिक संघ (IWSA) की प्रमुख संस्थापक सदस्य भी थीं। डॉ कमल जयसिंह रणदिवे को पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था।

Google Doodle Dr Kamal Ranadive: 

Google आज डूडल बनाकर भारतीय सेल जीवविज्ञानी डॉ कमल रणदिवे का 104 वां जन्मदिन मना रहा है। रणदिवे को उनके अभूतपूर्व कैंसर अनुसंधान और विज्ञान और शिक्षा के माध्यम से एक अधिक न्यायसंगत समाज बनाने के लिए जाना जाता है।

आज का डूडल भारत के गेस्ट आर्टिस्ट इब्राहिम रयिन्ताकथ द्वारा बनाया गया है। आज के डूडल के लिए अपनी प्रेरणा के बारे में बात करते हुए, रयिन्ताकथ ने कहा: “मेरी प्रेरणा का मुख्य स्रोत 20 वीं शताब्दी की लैब अस्थेटिक्स और कुष्ठ व कैंसर से संबंधित कोशिकाओं की सूक्ष्म दुनिया थी।” उनके द्वारा बनाए गए डूडल में डॉ रणदिवे एक माइक्रोस्कोप को देख रही हैं।

kamal Ranadive lucknow

कमल समरथ, जिन्हें डॉक्टर कमल रणदिवे के नाम से जाना जाता है, का जन्म आज ही के दिन 1917 में पुणे, भारत में हुआ था। उनके पिता ने मेडिकल एजुकेशन के लिए उन्हें प्ररित किया। कमल के पिता दिनकर पुणे के फर्गसन कॉलेज में एक जीवविज्ञान के प्रोफेसर हुआ करते थे। उनका उद्देश्य था कि घर के सभी बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिले खासकर बेटियों को।

कमल अपने पिता की उमीदों पर एकदम खरी उतरीं। उन्होंने जीवन की हर परीक्षा अच्छे अंकों से पास की। कमल हमेशा कुछ नया सीखती और उसमें अच्छा कर के दिखातीं। वह भारतीय महिला वैज्ञानिक संघ (IWSA) की प्रमुख संस्थापक सदस्य भी थीं। डॉ कमल जयसिंह रणदिवे को पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था।

Dr. kamal ranadive birthday

आज  Dr. Kamal Randive का जन्म दिन है। जिसे google भी मना रहा है। इसके लिए गूगल ने अपने सर्च इंजन पर एक स्पेशल डूडल तैयार किया। जो की Dr. kamal ranadive को समर्पित है। क्योकि आज ही के दिन 8 November 1917 को इनका जन्म हुआ था।

Kamal Ranadive Age

इनका जीवन परिचय कुछ इस प्रकार है इनका पूरा नाम Dr. Kamal Randive (Kamal Jayasing Ranadive) है। इनका जन्म 8 November 1917 में Pune, Bombay presidency, British India में हुआ था। जो आजाद होने के बाद इंडिया (भारत ) बना। इनके जन्म के वक्त देश पर अंग्रेजो का राज था। Kamal Jayasing Ranadive की मृत्यु 11 April 2001 में 83 साल की उम्र में हुई।

Kamal Ranadive contribution

Kamal Ranadive एक biomedical researcher थी। जो कैंसर और वायरस के बीच सम्बन्ध का शोध और कैंसर रिसर्च के बारे में जाने जाते है। इन्होने 1960 में, मुंबई में भारतीय कैंसर अनुसंधान केंद्र में भारत की पहली  tissue culture research laboratory की स्थापना की।

इन्हे Pioneering cancer research के लिए जाना जाता है। और इन्हे अपनी रिसर्च के लिए Padma Bhushan अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। इन्होने Cancer Research Centre and Tata Memorial Hospital आदि रिसर्च संस्थानों में काम किया। इनका रिसर्च फील्ड Cell biology था।

Kamal Ranadive Nationality

क्योकि इनका जन्म ब्रिटिश इंडिया के दौर में हुआ और जन्म स्थान Pune, Bombay था। जोकि अभी महाराष्ट्र में है। इस हिसाब से इनकी Nationality Indian थी। जोकि हम सभी देशवासियो के लिए गर्व की बात है।

Kamal Ranadive का शुरुआती जीवन परिचय 

जैसा जी हमने आपको बताया इनका जन्म 1917 के उस दौर में हुआ जब देश में अंग्रेजो का शासन था। इनका जन्म पुणे में हुआ जो महाराष्ट्र में है। इनकी माता का नाम Shantabai Dinkar Samarth और पिता का नाम Dinesh Dattatreya Samarath था। इनके पिताजी एक बायोलॉजिस्ट थे जो Pune के Fergusson College में पढ़ाते थे। Kamal Ranadive पढाई में बहुत होशियार थी।

Kamal Ranadive schooling कहा से किया ?

इन्होने आपकी शुरूआती school की पढाई Maharashtra Girls Education Society (MGE), Huzurpaga से किया। इस स्कूल को HHCP Girls High School के नाम से भी जाना जाता है।

Dr Kamal Ranadive ने क्या पढाई की?

इनके पिता चाहते थे की उनकीं बेटी मेडिकल पढाई करे और एक डॉक्टर से शादी करे। लेकिन उनकी बेटी Kamal ने अलग ही फैसला किया और कॉलेज की पढाई के लिए Fergusson College में एडमिशन लिया और Botany and Zoology से अपनी Bachelor of Science (B.Sc) की डिग्री प्राप्त की। इन्होने अपनी B.Sc की डिग्री 1934 में पूरी की थी।

इसके बाद वह पुणे के Agriculture College में चली गईं, जहां उन्होंने 1943 में एनोनेसी के साइटोजेनेटिक्स( cytogenetics of annonaceae) विषय में master’s degree (M.Sc.) पूरा किया।

Kamal Ranadive की शादी कब हुई ?

इनकी शादी 13 May 1939 में J. T. Ranadive से हुई थी जो की एक mathematician थे। इसके बाद Kamal Ranadive पुणे से मुंबई आ गई। उनके एक बेटा है जिसका नाम Anil Jaysingh है। Kamal Ranadive बॉम्बे में Tata Memorial Hospital में जॉब किया।

Question related to Kamal Ranadive

Dr Kamal Ranadive?कौन है। 

Kamal Ranadive एक biomedical researcher थी। जिनका cancer research में बहुत बड़ा योगदान रहा।

Kamal Ranadive को कोनसा अवार्ड मिला ?

इनको Padma Bhushan अवार्ड से सम्मानित किया गया।

Conclusion

हमने इस आर्टिकल में आपको Kamal Ranadive की Biography के बारे में बताया। हमने आपको Kamal Ranadive के बारे में सभी जानकारी हिंदी में देने की पूरीकोशिश की है। हमें आपको बताया की  Kamal Ranadive एक biomedical researcher थी। और हमने बताया की किस प्रकार दुनिया इन्हे cancer रिसर्च के विषय में योगदान से जानती है।


Leave a Reply