अपनी त्वचा को साफ सुंदर व आकर्षक कैसे बनाएं? अपनी त्वचा के चकत्ते को हटाए, जाने संपूर्ण जानकारी

आजकल त्वचा से जुड़ी समस्याएं गंभीर होती जा रही है. इसके लिए हमारा खान-पान व पर्यावरण प्रदूषण जिम्मेदार होता है इसके अलावा कई लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है जिस कारण उन्हें रिएक्शन, पिम्पल्स आदि की समस्या उत्पन्न होती है. लोग अपनी त्वचा के पिम्पल्स, काले दाग आदि सब हटाने में इतना लुप्त हो जाते हैं कि अपनी ही त्वचा को पीड़ित करते हैं. ऐसी एक त्वचा समस्या चकत्ते की है, अपनी त्वचा पर किसी भी प्रकार की क्रीम या अन्य उपाय इस्तेमाल करने से पहले उसकी सही जानकारी होना अनिवार्य है.

चकत्ते की समस्या के बारे में वैज्ञानिक के आधार पर त्वचा पर चकत्ते क्या है? त्वचा पर चकत्ते के लक्षण? चकत्ते हटाने के उपाय? त्वचा पर चकत्ते लगने से बचाव? तथा अन्य जानकारी आपको इस आर्टिकल के माध्यम से आसानी से प्रदान की जाएगी.

 त्वचा पर चकत्ते क्या है?

जब किसी त्वचा पर चकत्ते हो जाते हैं तो उस जगह खुजली, जलन, लाल निशान, दर्द आदि होने लगता है. त्वचा पर चकत्ते अलग-अलग प्रकार के भी होते हैं जैसे सूखे, नम, उभरे हुए, खरदरे आदि. उसी तरह चकत्ते हटाने के उपाय भी अलग-अलग तरीकों के होते हैं. कई स्थितियों मैं चकते एलर्जी, संक्रमण, गर्मी आदि कारणों से भी उत्पन्न होते हैं. याद रखें यही चकत्ते आगे एक बड़ी समस्या को आमंत्रण कर सकती हैं. विभिन्न चकत्ते के चित्र चकत्ते के कई अलग-अलग कारण होते हैं. यहां तस्वीरों के साथ 6 की सूची दी गई है.

1 पांचवां रोग

सिरदर्द, थकान, कम बुखार, गले में खराश, नाक बहना, दस्त और मतली वयस्कों की तुलना में बच्चों को दाने का अनुभव होने की अधिक संभावना है गालों पर गोल, चमकीले लाल चकत्ते हाथ, पैर और शरीर के ऊपरी हिस्से पर लाल चकत्ते जो गर्म स्नान या स्नान के बाद अधिक दिखाई दे सकते हैं.

पांचवां रोग
2 पिस्सू के काटने
  • पिस्सू के काटने के दो हफ्ते में मरीज को तेज बुखार आता है जो 102-103 डिग्री फारेनहाइट तक जा सकता है.
  • शरीर पर लाल दाने और काटने वाली जगह पर फफोलेनुमा काली पपड़ी जैसा निशान उभरता है.
  • सिरदर्द, खांसी, मांसपेशियों में दर्द व शरीर में कमजोरी रहती है.
पिस्सू का काटना
3 रोसैसिया
  • त्वचा में छोटी रक्त वाहिनियां दिखाई देने लगती हैं.
  • ज्यादा गंभीर मामलों में त्वचा मोटी और फैल जाती है, यह अक्सर नाक और उसके आसपास के हिस्से में होता है.
  • सामान्य लक्षणों में चेहरे का लाल होना, उठना, लाल धक्कों, चेहरे का लाल होना, त्वचा का सूखापन होना.
रोसैसिया
4 रोड़ा

  • ये बीमारी आमतौर पर शिशुओं और बच्चों‌ में पाई जाती है.
  • रोड़ा  अक्सर मुंह, ठुड्डी और नाक के आसपास के क्षेत्र में स्थित होता है.
  • रोड़ा  अक्सर मुंह, ठुड्डी और नाक के आसपास के क्षेत्र में स्थित होता है.
रोड़ा
5 एलर्जी एक्जिमा
  • एक जले के समान हो सकता है.
  • एलर्जी एक्जिमा  अक्सर हाथों और फोरआर्म्स पर पाया जाता है.
  • यह त्वचा को खुजलीदार, लाल, पपड़ीदार या कच्ची करते है.
  • फफोले जो रोते हैं, रिसते हैं, या क्रस्टी हो जाते हैं.
एलर्जी एक्जिमा
6 हाथ पैर और मुहं की बीमारी
  • यह बीमारी आमतौर पर 5 साल से कम उम्र के बच्चों को प्रभावित करती है.
  • मुंह में छाले होना और जीभ और मसूड़ों पर लाल  दर्दनाक छाले.
  • हाथ की हथेलियों और पैरों के तलवों पर दानेदार लाल लाल चक्ते.
हाथ पैर और मुहं की बीमारी

▶️ त्वचा में चकत्ते होने के कुछ सामान्य कारण

  • डर्मेटाइटिस –

यह चकत्ते होने के सामान्य कारणों में से एक हैं. जब आपको किसी चीज से एलर्जी होती है, उसी चीज को छूने से रिएक्शन पैदा होता है एवं त्वचा लाल पड़ जाती है, और सूजन उभरने लगती है.

  • दवाईयां –

कुछ दवाइयों के साइड इफेक्ट से भी चकत्ते पैदा होते हैं. साथ ही कुछ दवाइयों के कारण भी चकत्ते उभरने लगते हैं जो एक एलर्जी का कारण बनता है.

  • संक्रमण –

वायरस,बैक्टीरिया,फंगस आदि के फैलने से भी चकत्ते पैदा होते हैं, संक्रमण के आधार पर छपते अलग-अलग प्रकार के उभरने लगते हैं.

  • स्व प्रतिरक्षित स्थितियां –

यह सरिता मत बनना होती है जब किसी व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली उसके शरीर के स्वस्थ ऊतकों पर आक्रमण करना शुरू कर देती हैं. स्व प्रतिरक्षित रोग कई प्रकार के होते हैं, जिनमें से कुछ के कारण चकत्ते भी बनते हैं.

▶️ त्वचा पर चकत्ते का परीक्षण

त्वचा पर चकत्ते का परीक्षण करने के लिए जब आप डॉक्टर के पास जाएंगे तो वह आपका शारीरिक परीक्षण करेगा साथ ही पुरानी मेडिकल रिपोर्ट भी मांगेगा. चकत्ते का रंग, फैलाव, जगह आदि सभी अन्य जानकारी बतानी होगी. किसी डॉक्टर को रोग का निदान करने में मदद मिलेगी. अन्य टेस्ट जो आवश्यक हो सकते हैं –

  • पूर्ण रक्त गणना
  • स्किन बायोप्सी
  • एलर्जी के लिए विशिष्ट खून टेस्ट

▶️ त्वचा पर चकत्ते का इलाज

त्वचा के चकत्तो को हटाने के लिए कुछ घरेलू उपाय हैं जिसे आप फॉलो करते हैं तो चकत्ते हटाने की गति को तेज कर सकता है साथ ही इससे होने वाली सूजन एवं तकलीफ कम हो जाएगी. जिसमें कुछ निम्नलिखित उपाय नीचे दिए गए हैं –

  • सबसे पहले हल्के साबुन का उपयोग करें.
  • चकत्तो के स्थान को गर्म पानी का इस्तेमाल करने की बजाय गुनगुने पानी से धोए.
  • चकत्तो को हमेशा खुला रखें उसे किसी भी पट्टी या बैंडेज से बांधने या ढकने की कोशिश बिल्कुल ना करें.
  • चकत्तो को बिल्कुल भी खुजाले या रगड़े नहीं इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है.
  • अगर चकत्ते सूखे हैं तो मोशर राइजिंग का इस्तेमाल करें.
  • बिना सही जानकारी के किसी भी लोशन या मौशराइजिंग का इस्तेमाल ना करें जिससे चकत्ते और उभरने लगे.
  • आप हाइड्रोकॉर्टिसोन (Hydrocortisone) क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे आपको खुजली नहीं होगी.
  • आप कैलामाइन लोशन को भी इस्तेमाल कर सकते हैं यह चकत्ते कम करने में काफी सहायक रहता है.

Leave a Reply